Hindi News »Chhatisgarh »Bilaspur» Veteran Leader Sleeps On A Broken Bed

कभी सांसद रहा ये दिग्गज नेता सोता रहा टूटे बेड पर, चादर तक नहीं हुई नसीब

बिलासपुर लोकसभा से एक बार के सांसद और वहीं दो बार विधायक रह चुके कि स्थिती को देखकर तरस आता है।

Bhaskar News | Last Modified - Mar 02, 2018, 07:12 AM IST

कभी सांसद रहा ये दिग्गज नेता सोता रहा टूटे बेड पर, चादर तक नहीं हुई नसीब

बिलासपुर . बिलासपुर लोकसभा से एक बार के सांसद और वहीं दो बार विधायक रह चुके कि स्थिती को देखकर तरस आता है। तबियत खराब होने की वजह से उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट किया गया था। जहां उनकी देखभाल सही तरह से नहीं की गई। यह हाल तब हैं जब ये शख्स इस इलाके से एक बार सांसद तो वहीं मस्तूरी विधानसभा से दो बार एमएलए रह चुके हैं। ओढ़ने को चादर भी नहीं मिली...

- दरअसल, गुरूवार को हॉस्पिटल में इलाज कराने पहुंचे पूर्व सांसद गोदिल प्रसाद को सिम्स में चादर तक नसीब नहीं हुई। उन्हें रातभर फटे बेड पर सोकर गुजारनी पड़ी।

- केजुअल्टी वार्ड में तैनात डॉक्टरों ने उन्हें स्ट्रेचर तक उपलब्ध नहीं कराई। मजबूरन उन्हें पैदल वार्ड तक जाना पड़ा।

- हॉस्पिटल की असुविधाओं को देखकर परिवार के लोगों ने उन्हें डिस्चार्ज करा लिया।

- बता दें, रतनपुर गोदिल प्रसाद अनुरागी 68 वर्ष बिलासपुर लोकसभा के पूर्व सांसद हैं। इसके अलावा मस्तूरी विधानसभा क्षेत्र से दो बार विधायक भी रहे।


मुफ्त इलाज की भी सुविधा नहीं मिली

-सांसद को फ्री में इलाज सुविधा मुहैया कराने के लिए शासन ने नियम बनाया है। सिम्स में इसका पालन भी नहीं हुआ। परिवार के लोगों ने पैसा जमा करके पर्ची कटाई तब जाकर इलाज शुरू किया गया।
- वहीं हॉस्पिटल के पीआरो के मुताबिक, हॉस्पिटल में पर्याप्त मात्रा में चादर उपलब्ध हैं, मरीजों को चादर उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी वार्ड के कर्मचारियों की है। प्रशासन को पूर्व सांसद के आने के बारे में जानकारी नहीं थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bilaspur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: kbhi sansad raha ye digagaj netaa sotaa raha tute bed par, chaadr tak nahi huee nsib
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bilaspur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×