• Home
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • महिला आरक्षक से लाखों की ठगी का आरोपी फिर वारदात की फिराक में घूमते पकड़ाया
--Advertisement--

महिला आरक्षक से लाखों की ठगी का आरोपी फिर वारदात की फिराक में घूमते पकड़ाया

तीन महीने पहले बस स्टैंड स्थित एसबीआई के एटीएम में एक महिला आरक्षक का कार्ड बदलकर उसके खाते से पांच लाख 66 हजार रुपए...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:05 AM IST
तीन महीने पहले बस स्टैंड स्थित एसबीआई के एटीएम में एक महिला आरक्षक का कार्ड बदलकर उसके खाते से पांच लाख 66 हजार रुपए निकालने के मामले में गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार करने में पुलिस को कामयाबी मिली है। हरियाणा के इस गिरोह को पकड़ने पुलिस वहां से खाली हाथ लौट आई थी। इस बीच गिरोह का एक सदस्य फिर से वारदात करने की फिराक में पुलिस के हत्थे चढ़ा। उसके कब्जे से 5 हजार रुपए एवं दो एटीएम कार्ड पुलिस ने बरामद किए हैं।

पुलिस ने बताया कि 2 दिसंबर को बस स्टैंड स्थित एटीएम में महिला आरक्षक सुखमनिया पैकरा का एटीएम अज्ञात लोगों ने बदल लिया था। महिला एटीएम मेंें पैसे निकालने गई थी और इसी दौरान वह धोखाधड़ी का शिकार हुई। कार्ड बदलने के बाद उसके खाते से गिरोह ने 5 लाख 66 हजार रुपए निकाल लिए थे। उक्त रकम महिला को उसके पति के नाम पर मिली थी। धोखाधड़ी का मामला सामने आने के बाद पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 420 का अपराध दर्ज कर जांच शुरू की। एसपी टीआर कोशिमा के निर्देश पर पुलिस टीम ने एटीएम के सीसीटीवी फुटेज निकाल उसकी जांच की। इसमें तीन संदिग्ध युवकोंे की पहचान हुई। तीनोें का पता चलने पर पुलिस टीम हरियाणा भी गई लेकिन उनका कोई सुराग नहीं मिला।

आरोपी।

बस स्टैंड में उसी एटीएम के पास घूम रहा था, पकड़ा गया

पुलिस को उस वक्त सफलता मिली जब एक आरोपी बस स्टैंड के उसी एटीएम के पास संदिग्ध अवस्था में घूमते हुए दिखा। मुखबिरों ने सीसीटीवी फुटेज से मिली तस्वीरोंे से उसकी पहचान कर ली और इसकी सूचना पुलिस को दी। युवक को बस स्टैंड में पकड़कर पूछताछ की गई। उसने अपना नाम सुल्तान सिंह पिता रामकिशन 22 वर्ष, ग्राम पिपलथा, जिंद हरियाणा बताया। उसके गिरोह के बाकी दो सदस्य अमरजीत एवं रमेश निवासी हिसार एवं कैथल के रहने वाले हैं। दोनांे फरार हैं और पुलिस इनकी तलाश में जुटी है। युवक के कब्जे से पांच हजार रुपए एवं दो एटीएम कार्ड बरामद किए गए हैं।