बिलासपुर

  • Home
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • एक वर्ष पहले बने जिपं के संसाधन केंद्र भवन में जगह-जगह दरारें, खिड़की-दरवाजे भी टूटने लगे
--Advertisement--

एक वर्ष पहले बने जिपं के संसाधन केंद्र भवन में जगह-जगह दरारें, खिड़की-दरवाजे भी टूटने लगे

नगर के सेमली मोड़ मंे दो करोड़ की लागत से बना जिला पंचायत संसाधन केंद्र साल भर मेंे ही खस्ताहाल हो गया। बगैर उद्घाटन...

Danik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:05 AM IST
नगर के सेमली मोड़ मंे दो करोड़ की लागत से बना जिला पंचायत संसाधन केंद्र साल भर मेंे ही खस्ताहाल हो गया। बगैर उद्घाटन के ही इसका उपयोग पिछले साल से किया जा रहा और अब भवन की मरम्मत की तैयारी की जा रही है। भवन निर्माण में गड़बड़ी की बात यहां के अधिकारी मान रहे हैं। अब इसकी जांच कराने की बात कही जा रही है।

जिला मुख्यालय में प्रशासन की नाक के नीचे बड़े निर्माण कार्यों में बड़ी गड़बड़ी हो रही है लेकिन अधिकारियोंे का रवैया सुस्त नजर आ रहा है। सेमली मोड़ में जिला पंचायत का संसाधन केंद्र के अलावा कंपोजिट बिल्डिंग, जिला पंचायत भवन एवं जिला संसाधन का कार्यालय तैयार हो रहा है। जिला संसाधन केंद्र को मुख्यालय मेें होेने वाले बड़े कार्यक्रमों एवं आयोजनों के लिए तैयार कराया गया लेकिन साल भर के भीतर ही यह भवन खस्ताहाल हो गया। करीब 2 करोड़ की लागत से इस भवन को 2017 में तैयार किया गया था। पिछले साल से भवन का उपयोग भी शुरू कर दिया गया। इस बीच पिछली बारिश में छत से पानी टपकने की शिकायत सामने आई। भवन में कई जगह दरारें पड़ गई और अब तो दीवार से प्लास्टर भी गिरने लगा है। खिड़की-दरवाजें टूटने लगे हैंं। बारिश में तो यहां इतना पानी भर जाता है कि पैर रखना मुश्किल हो जाता है। यहां रात में रहने वाले कर्मचारी ने बताया कि भवन की हालत देख यहां सोने में खतरा बना रहता है।

निर्माण के बाद किया जा चुका हैंडओवर, अफसर बोले- निर्माण में गड़बड़ी मिली तो ठेकेदार से कराएं मरम्मत

खस्ताहाल भवन, जगह-जगह पड़े दरारें, दरवाजा का भी हाल बेहाल बिल्डिंग की साल भर बाद ही मरम्मत की तैयारी।

डिजाइन बदलने से क्वालिटी हो गई खराब: काम शुरू होने के बाद इसका डिजाइन बदल दिया गया। इससे इस्टीमेंट भी बढ़ गया। दो करोड़ की राशि ही भवन के लिए मंजूर थी, उतनी ही राशि में परिवर्तित डिजाइन से बिल्डिंग का काम किसी तरह पूरा करा दिया। इससे राशि कम पड़ने से ही क्वालिटी खराब हो गई।

भास्कर संवाददाता| बलरामपुर

नगर के सेमली मोड़ मंे दो करोड़ की लागत से बना जिला पंचायत संसाधन केंद्र साल भर मेंे ही खस्ताहाल हो गया। बगैर उद्घाटन के ही इसका उपयोग पिछले साल से किया जा रहा और अब भवन की मरम्मत की तैयारी की जा रही है। भवन निर्माण में गड़बड़ी की बात यहां के अधिकारी मान रहे हैं। अब इसकी जांच कराने की बात कही जा रही है।

जिला मुख्यालय में प्रशासन की नाक के नीचे बड़े निर्माण कार्यों में बड़ी गड़बड़ी हो रही है लेकिन अधिकारियोंे का रवैया सुस्त नजर आ रहा है। सेमली मोड़ में जिला पंचायत का संसाधन केंद्र के अलावा कंपोजिट बिल्डिंग, जिला पंचायत भवन एवं जिला संसाधन का कार्यालय तैयार हो रहा है। जिला संसाधन केंद्र को मुख्यालय मेें होेने वाले बड़े कार्यक्रमों एवं आयोजनों के लिए तैयार कराया गया लेकिन साल भर के भीतर ही यह भवन खस्ताहाल हो गया। करीब 2 करोड़ की लागत से इस भवन को 2017 में तैयार किया गया था। पिछले साल से भवन का उपयोग भी शुरू कर दिया गया। इस बीच पिछली बारिश में छत से पानी टपकने की शिकायत सामने आई। भवन में कई जगह दरारें पड़ गई और अब तो दीवार से प्लास्टर भी गिरने लगा है। खिड़की-दरवाजें टूटने लगे हैंं। बारिश में तो यहां इतना पानी भर जाता है कि पैर रखना मुश्किल हो जाता है। यहां रात में रहने वाले कर्मचारी ने बताया कि भवन की हालत देख यहां सोने में खतरा बना रहता है।


ठेकेदार से कराएंगे बिल्डिंग की मरम्मत

भवन की क्वालिटी खराब, जांच के बाद करेंगे कार्रवाई

जिला पंचायत सीईओ शिव अनंत तायल का कहना है कि उनके कार्यकाल से पहले बिल्डिंग बनी है। वहां देखने से पता चला कि भवन की क्वालिटी खराब है। डिजाइन बदलने एवं पैसों की कमी के कारण शायद भवन ऐसा बन गया। अब इसे उपयोगी बनाने के लिए मरम्मत करानी होगी। ठेकेदार को नोटिस दिया गया था। निर्माण की तकनीकी जांच के बाद संबंधित के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।

Click to listen..