• Home
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • 3 क्विंटल अन्न व 21 प्रकार के व्यंजनों का लगा भोग
--Advertisement--

3 क्विंटल अन्न व 21 प्रकार के व्यंजनों का लगा भोग

सोलापुरी माता पूजा उत्सव के अंतिम दिन रविवार को मां को 3 क्विंटल अन्न और 21 प्रकार के पकवानों का भोग लगाया गया। दोपहर...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:20 AM IST
सोलापुरी माता पूजा उत्सव के अंतिम दिन रविवार को मां को 3 क्विंटल अन्न और 21 प्रकार के पकवानों का भोग लगाया गया। दोपहर में माता की महाकुंभम पूजा और आरती की गई। पूजा पंडाल में महाकुंभम का प्रसाद वितरित किया गया।

रेलवे क्षेत्र पोर्टर खोली में चल रही पूजा के अंतिम दिन रविवार को मां काली के स्वरूप का सुबह से श्रृंगार किया गया। इसके बाद पूजा शुरू हुई। अंतिम दिन भक्तों ने मां के काली स्वरूप के दर्शन किए। सात दिनों तक मां के विभिन्न रूपों का दर्शन भक्तों ने किया। हर दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। पूजा के बाद सोलापुरी माता की बाजे-गाजे के साथ शोभायात्रा निकाली गई। समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि सात दिनों तक माता को जो भोग लगाया जाता है वह उपवास की तरह ही रहता है। इसलिए पूजा के अंतिम दिन महाकुंभम पूजा की जाती है। पूजा के लिए खड़गपुर से आए कारीगरों ने पकवान तैयार किए। पूजा के अंतिम दिन समिति के पदाधिकारियों सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

रेलवे क्षेत्र पोर्टर खोली में चल रही सोलापुरी माता पूजा का समापन हुआ, शोभायात्रा निकाली गई

सोलापुरी माता पूजा उत्सव के अंतिम दिन मां को महाकुंभम भोग लगाते हुए श्रद्धालु। मां काली रूप के दर्शन भक्तों ने किए।