--Advertisement--

लेंट पर्व का आज 16वां दिन

बिलासपुर | मसीहियों द्वारा श्रद्धा से मनाए जाने वाले लेंट पर्व में मनन चिंतन के लिए आज का बाइबिल पाठ भजन संहिता 32:1-12,...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:30 AM IST
बिलासपुर | मसीहियों द्वारा श्रद्धा से मनाए जाने वाले लेंट पर्व में मनन चिंतन के लिए आज का बाइबिल पाठ भजन संहिता 32:1-12, उत्पत्ति 3:1-6, याकूब 1:2-8, 12-15 एवं लूका 4:1-13 नामक किताबों से लिया गया है।

रेव्हरेंड राजेश मसीह ने बताया कि परमेश्वर ने प्रथम मनुष्य अर्थात आदम को अपने ही स्वरूप और समानता में बनाया। उसे महिमा और प्रताप का मुकुट पहनाकर पूरी सृष्टि में सर्वोच्च स्थान प्रदान किया (भजन संहिता 8:3-6) तथा उसे अधिकार देकर आशीषित किया (उत्पत्ति 1:28-29)। आदम और उसकी प|ी हव्वा ने अनेक कारणों से परमेश्वर प्रदत्त पवित्रता और प्रतिष्ठा को खो दिया। पहली बात यह है कि परमेश्वर ने आदम को यह स्पष्ट आज्ञा दी थी कि तुम अदन की वाटिका के समस्त वृक्षों के फलों का सेवन कर सकते हो लेकिन भले और बुरे ज्ञान का जो वृक्ष है उसका फल कभी नहीं खाना। जिस दिन तुम उस वर्जित वृक्ष के फल को खाओगे तो उसी दिन अवश्य मर जाओगे (उत्पत्ति 2:17)। दूसरी बात यह है कि उन्होंने शैतान की बातों पर विश्वास और परमेश्वर की बातों पर अविश्वास किया (याकूब 1:2-4 )। अंतिम बात यह है कि आदम और हव्वा अपनी ही अभिलाषाओं से खिंचकर और फंसकर परीक्षा में पड़े और गिर गए।