• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • जिले में सूखे की स्थिति रही लेकिन सौर सुजला के 410 पंप ही लग सके
--Advertisement--

जिले में सूखे की स्थिति रही लेकिन सौर सुजला के 410 पंप ही लग सके

Bilaspur News - प्रशासनिक रिपोर्टर | बिलासपुर इस बार जिले में सूखे के हालात रहे, सभी तहसीलों में कम बारिश हुई। नतीजा ये हुआ कि धान...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 02:30 AM IST
जिले में सूखे की स्थिति रही लेकिन सौर सुजला के 410 पंप ही लग सके
प्रशासनिक रिपोर्टर | बिलासपुर

इस बार जिले में सूखे के हालात रहे, सभी तहसीलों में कम बारिश हुई। नतीजा ये हुआ कि धान का उत्पादन भी कम हुआ लेकिन छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण यानी क्रेडा किसानों को पंप देने में पिछड़ गया। उसे 700 किसानों को पंप देकर उसका इंस्टॉलेशन करना था लेकिन इसमें से महज 410 किसानों को ही किसी तरह दिया गया। अधिकारी दो माह में लक्ष्य पूरा करने का दावा कर रहे हैं।

एक नवंबर 2016 को रायपुर से देशभर के किसानों के लिए रियायतों वाली सौर सुजला योजना शुरू हुई। इसके तहत पूरे राज्य से अगले तीन वर्षों के लिए करीब 57 हजार किसानों को चिन्हित किया गया। इसके तहत किसानों को लाखों के सिंचाई पंप नाम मात्र के खर्च पर देने की योजना बनाई गई। तीन सालों में किसानों को 3 एचपी और 5 एचपी के पंप देने का निर्णय लिया गया। एसटीएससी के किसानों कोे 7 हजार रुपए में 3 एचपी का पंप, ओबीसी को 12 हजार तो सामान्य वर्ग के किसानों को 18 हजार रुपए में देने की बात कही गई। वहीं पांच एचपी पंप के लिए 10, 15 व 30 हजार रुपए निर्धारित किया गया। पिछले साल जिले के 541 किसानों ने सौर सुजला योजना के लिए आवेदन किया। इन आवेदनों को कृषि विभाग क्रेडा को पास भेजा और महज 415 किसानों को ही पंप दिया गया। इस वित्तीय वर्ष में 700 किसानों के खेतों में सोलर पंप लगाकर इंस्टालेशन करने का लक्ष्य रखा गया। जिले भर के 1088 किसानों ने अपने खेतों में सोलर पंप लगवाने के लिए कृषि विभाग में आवेदन किया। कृषि विभाग ने सभी आवेदन क्रेडा के पास भेज दिए। इनमें से 954 आवेदनों को क्रेडा के अधिकारियों ने स्वीकृत भी किया लेकिन अब तक केवल 410 किसानों के खेतों में ही सौर सुजला का पंप लग सका है। वहीं बाकी पंप इंस्टाल नहीं किए गए हैं। कृषि विभाग के उप संचालक आरजी अहिरवार के मुताबिक उन्होंने सभी प्रकरण क्रेडा के पास भेज दिया है। आगे की जिम्मेदारी उन्हीं की है। क्रेडा के जिला प्रभारी सिद्धार्थ कमाविसदार के मुताबिक आंकड़े अब 410 की बजाय 450 के करीब हो गए होंगे।

700 पंप लगाना था जिलेभर में, 1088 किसानों ने किया था आवेदन

X
जिले में सूखे की स्थिति रही लेकिन सौर सुजला के 410 पंप ही लग सके
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..