Hindi News »Chhatisgarh »Bilaspur» सीयू ने की ऐसी जांच कि बिना पक्ष लिए 5 छात्रों को हॉस्टल से कर दिया बाहर

सीयू ने की ऐसी जांच कि बिना पक्ष लिए 5 छात्रों को हॉस्टल से कर दिया बाहर

एजुकेशन रिपोर्टर | बिलासपुर सेंट्रल यूनिवर्सिटी छात्रों को खराब खाना दे रही थी। छात्रों ने जब अपने हक के लिए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 03:30 AM IST

एजुकेशन रिपोर्टर | बिलासपुर

सेंट्रल यूनिवर्सिटी छात्रों को खराब खाना दे रही थी। छात्रों ने जब अपने हक के लिए अच्छे खाने की मांग की, तो भी नहीं मिला। पूरे साल भर छात्र सभी अधिकारियों से लिखित में और प्रेमपूर्वक अच्छे खाने की मांग करते रहे, लेकिन यूनिवर्सिटी उसे बार-बार नजरअंदाज करती रही। जब छात्रों ने इसको लेकर विरोध किया तो यूनिवर्सिटी ने उनका खाना, पानी और बिजली तक बंद कर दिया। अब अपने हक के अच्छे खाने की मांग करने वाले छात्रों पर यूनिवर्सिटी अपनी गलती छुपाने के लिए उन्हीं पर कार्रवाई कर रही है। वहीं सीयू की प्रॉक्टोरियल बोर्ड ने तो 5 छात्रों को हॉस्टल से बाहर निकलने का आर्डर भी जारी कर दिया है। यहां तक कि यूनिवर्सिटी ने इन छात्रों का पक्ष भी नहीं सुना है। यूनिवर्सिटी ने जो छात्र बीमार हुआ, हॉस्पिटल गया, उसे भी कार में तोड़फोड़ करने व दंगा भड़काने के मामले में हाॅस्टल से बाहर कर दिया। इसको लेकर बुधवार को छात्राें ने विरोध किया और आदेश वापस लेने की मांग कर ज्ञापन सौंपा।

सेंट्रल यूनिवर्सिटी के गेट पर प्रदर्शन करते छात्र।

हमें अपनी बात रखने का मौका क्यों नहीं दिया

विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस छात्रों को मांग रखने के लिए प्रशासन के पास ले गई। प्रभारी कुलसचिव चौबे ज्ञापन लेने पहुंचे। लॉ के छात्र ने कहा कि इन छात्रों ने तो गलती भी नहीं की है, फिर भी यूनिवर्सिटी के जांच अधिकारी ने बिना इनका कोई पक्ष लिए कैसे हॉस्टल से बाहर जाने का पत्र जारी कर दिया।

मामला विचाराधीन है

सेंट्रल यूनिवर्सिटी की मीडिया सेल प्रभारी डॉ. प्रतिभा जे मिश्रा ने कहा कि छात्रों ने जो ज्ञापन सौंपा है, वह अभी विचाराधीन है। अभी छात्र हॉस्टल में रह सकते हैं।

विभागाध्यक्ष ने दी धमकी तुमको तो हम देखते हैं

छात्रों ने कहा कि हमें पक्ष रखने क्यों मौका नहीं दिया गया। अधिकारियों ने कहा कि कार्रवाई करने का अधिकार है, किए हैं। अब तो बाहर जाना ही होगा। डॉ. पीके बाजपेयी ने कहा अब ध्यान दिए है तो बाहर हो गए हो। वहीं लॉ के विभागाध्यक्ष डॉ. एमके सिंह ने लॉ के छात्र को कहा कि तुम कैसे यहां आ गए। तुमको ताे हम देखते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bilaspur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×