• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • दो साल पहले सील की गई थी बाबूजी सेल्स की दुकान, दीवार खोदकर कारोबार पकड़ा
--Advertisement--

दो साल पहले सील की गई थी बाबूजी सेल्स की दुकान, दीवार खोदकर कारोबार पकड़ा

व्यापार विहार स्थित बाबूजी सेल्स सामने से देखने पर सील हो चुकी है, परंतु बाजू से दुकान की दीवार खोदकर सील की गई...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 03:30 AM IST
दो साल पहले सील की गई थी बाबूजी सेल्स की दुकान, दीवार खोदकर कारोबार पकड़ा
व्यापार विहार स्थित बाबूजी सेल्स सामने से देखने पर सील हो चुकी है, परंतु बाजू से दुकान की दीवार खोदकर सील की गई दुकान का इस्तेमाल गोदाम की तरह किया जा रहा था। निगम अमले ने बुधवार की शाम ट्रैफिक पुलिस की मदद से दुकान पर दबिश दी, तो पहले तो दुकानदार ने अंदर जाने से रोका। यह दुकान 5 जनवरी 2015 को सील की गई थी। आरोप है कि तब से इस दुकान की दीवाल में छेद कर कारोबार चल रहा था। आशंका है कि नगर निगम के बिल्डिंग सेक्शन के इंजीनियरों की मिलीभगत से सारा कारोबार बेरोकटोक चल रहा था। दुकान को बेसमेंट पार्किंग का गोदाम की तरह इस्तेमाल करने के मामले में सील किया गया था। दुकानदार के एतराज करने पर निगम अमले ने अपनी ही लगाई सील को तोड़कर दुकान के अंदर प्रवेश किया, तो वहां दीवार पर छेद नजर आया तथा सेनेटरी पाइप व अन्य सामान का जखीरा मिला। बाबूजी सेल्स की अनियमितता पकड़े जाने के बाद निगम के अतिक्रमण निवारण दस्ते के प्रभारी ने सिविल लाइन पुलिस में नियमों का उल्लंघन करने तथा ड्यूटीरत कर्मचारी के साथ दुर्व्यवहार करने के मामले में रिपोर्ट लिखाई है। नगर निगम कमिश्नर सौमिलरंजन चौबे को व्यापार विहार रोड पर बगैर पार्किंग के दुकानें संचालित करने तथा ट्रैफिक प्रभावित होने की शिकायतें लगातार मिल रही थीं। इस मामले में आज उन्होंने निगम अमले को मौके पर भेजा।

निगम अमला पहुंचा तो इस तरह कारोबार जारी मिला। खूब हुई धक्कामुक्की। पुलिस रिपोर्ट की गई है।

मित्तल फर्नीचर दूसरी बार सील, मिलीभगत

नगर निगम की बिल्डिंग सेक्शन के इंजीनियरों की मिलीभगत मित्तल फर्नीचर के मामले में उजागर हो गई। नक्शे के मुताबिक मित्तल फर्नीचर ने बेसमेंट पार्किंग दर्शाया था, परंतु मौके पर गोदाम मिला। 5 जनवरी 2015 को दुकान सील गई थी। कारोबार जारी रहा, पर कोई झांकने तक नहीं गया। बुधवार को फिर दुकान सील कर दी गई।

बेसमेंट में पार्किंग की जगह दुकान

निगम अमले ने व्यापार विहार स्थित कार श्रृंगार की बेसमेंट पार्किंग की जांच की तो वहां एसेसरीज शॉप खुली पाई गई। कार के एसेस]रीज लगाने का काम चलते पाया गया। निगम अमले ने दुकान को सील कर दिया है। निगम की कार्रवाई में असिस्टेंट इंजीनियर गोपाल सिंह ठाकुर एवं शिव जायसवाल आदि शामिल थे।

X
दो साल पहले सील की गई थी बाबूजी सेल्स की दुकान, दीवार खोदकर कारोबार पकड़ा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..