बिलासपुर

  • Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • टाइगर प्वाइंट पर बगैर छड़ वाली तकनीक से बनाई जा रही पुलिया
--Advertisement--

टाइगर प्वाइंट पर बगैर छड़ वाली तकनीक से बनाई जा रही पुलिया

टाइगर प्वाइंट में पिछले साल बारिश के दौरान टूटी पुलिया बनाने कवायद पीडब्ल्यूडी ने शुरू कर दी है पर पचास लाख की...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:50 AM IST
टाइगर प्वाइंट पर बगैर छड़ वाली तकनीक से बनाई जा रही पुलिया
टाइगर प्वाइंट में पिछले साल बारिश के दौरान टूटी पुलिया बनाने कवायद पीडब्ल्यूडी ने शुरू कर दी है पर पचास लाख की राशि से पुलिया बनाने पीसीसी (प्लेन सीमेंट कंक्रीट) स्ट्रक्चर के स्टीमेट को स्वीकृति मिली है।

पुलिया पर बाक्साइट वाहनों का दबाव रहेगा और ऐसे में बगैर छड़ के बनी पुलिया की मजबूती पर सवाल उठ रहे हैं। विभाग का कहना है कि इस स्ट्रक्चर पर बनी पुलिया से परेशानी नहीं आएगी। पिछले साल अगस्त में बारिश के दौरान टाइगर प्वाइंट के पास बनी दशकोंे पुरानी पुलिया ढह गई थी। कुछ दिन तक मैनपाट का सीतापुर रोड से सीधा संपर्क प्रभावित हुआ था। पानी कम होने के बाद क्षतिग्रस्त पुलिया के पास से डायवर्सन बनाया गया। इसके बाद वाहनों का आना-जाना शुरू हुआ। बारिश के दौरान डायवर्सन से मार्ग फिर बंद होने की आशंका को देखते हुए एलडब्ल्यूई योजना में इस पुलिया को बनाने की मंजूरी दी गई। इसके लिए पचास लाख की स्वीकृति मिली थी। पीडब्ल्यूडी ने फरवरी के आखिरी मेंे पुलिया बनाने का काम शुरू किया। पुलिया को पीसीसी स्ट्रक्चर में बनाया जा रहा है।

विभाग का दावा- यह पुलिया भी उतनी ही होगी मजबूत

निर्माणाधीन नई पुलिया, इसमें छड़ का इस्तेमाल नहीं हो रहा है, इसे सीमेंट व कंक्रीट बेस में तैयार किया जा रहा।

ज्यादा लंबे व ऊंचे स्ट्रक्चर में छड़ का करते हैं इस्तेमाल

तकनीकी जानकारों के मुताबिक कम ऊंचाई व लंबाई वाली पुलिया को पीसीसी स्ट्रक्चर में बनाने में कोई दिक्कत नहीं है। जगह व स्थिति के नार्म्स के अनुसार ही पुलिया बनाने के स्टीमेट को मंजूरी मिलती है। ज्यादा ऊंचाई व लंबे पुल के लिए लोहे का भरपूर उपयोग किया जाता है।

पीसीसी टेक्निक से बनी पुलिया भी उतनी ही मजबूत

विभाग के सब इंजीनियर हितेंद्र सिंह ने बताया कि पीसीसी में छड़ का उपयोग नहीं होता। आरसीसी (रीइंफोर्स सीमेंट कंक्रीट) तकनीक से बनने वाली पुलिया में छड़ का उपयोग होता है। उन्होंने कहा कि पीसीसी तकनीक से बनी पुलिया भी उतनी ही मजबूत होगी और इसमेंे भारी वाहनों के चलने से कोई दिक्कत नहीं आएगी। बरसात से पहले पुलिया तैयार कर ली जाएगी।

X
टाइगर प्वाइंट पर बगैर छड़ वाली तकनीक से बनाई जा रही पुलिया
Click to listen..