Hindi News »Chhattisgarh News »Bilaspur News» Primary Children Started A Saving Bank By Saving Their Pocket Money

प्राइमरी स्टूडेंट्स ने ऐसे शुरू किया बैंक, अब पेरेंट्स को बिना ब्याज देते हैं लोन

सुनील शर्मा। | Last Modified - Nov 06, 2017, 07:21 AM IST

प्राइमरी स्कूल के बच्चों ने अपनी पॉकेटमनी को बचाकर एक सेविंग बैंक शुरू किया हैं।
  • प्राइमरी स्टूडेंट्स ने ऐसे शुरू किया बैंक, अब पेरेंट्स को बिना ब्याज देते हैं लोन
    +1और स्लाइड देखें
    बिलासपुर। प्राइमरी स्कूल के बच्चों ने अपनी पॉकेटमनी को बचाकर एक सेविंग बैंक शुरू किया हैं। दरअसल बिलासपुर से 60 किमी दूर बिल्हा गांव की कोरबी प्राइमरी स्कूल में पढ़ाई के साथ-साथ बच्चों को पैसों की बचत करना भी सिखाया जा रहा है। बच्चे अपनी पॉकेटमनी स्कूल के इस बैंक में जमा करते हैं, 92 में से 80 बच्चों के पास पासबुक भी है।पेरेंट्स को बिना ब्याज देते हैं लोन
    - बच्चों के एकाउंट में अब तक 63 हजार रुपए जमा हो चुके हैं। जरूरत पड़ने पर अभिभावकों को बिना ब्याज के स्कूल से रुपए उधार भी दिए जाते हैं। इतना ही नहीं स्कूल में किचन गार्डन, जैविक खाद बनाने की ट्रेनिंग, स्मार्ट क्लास तक मौजूद है।
    - स्कूल को मॉडल स्कूल पुरस्कार (2011-12), रोल मॉडल स्कूल पुरस्कार (2015-16) सहित कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं। हजार रुपए होने पर बच्चे के अकाउंट में जमा करा देते हैं आदिवासी गांव होने से यहां ज्यादातर लोगों की आय कम है। ऐसे में छोटी रकम भी बहुत मायने रखती है।
    अब पॉकेटमनी का करते हैं सही यूज
    - प्राइमरी स्कूल के प्रिंसीपल बताते हैं कि पहले बच्चे पॉकेट मनी को चॉकलेट-टॉफी खरीदने में खर्च कर देते थे। कई बच्चे के पेट में कृमि की शिकायत मिली। इसलिए 2 साल पहले मैंने स्कूल में बचत योजना बतौर प्रयोग शुरू कराई। अभिभावकों ने भी इसमें रुचि ली, आज इसके अच्छे परिणाम आ रहे हैं।
    - बच्चों के जमा पैसों का हिसाब रखने के पासबुक भी बनाई गई हैं। अब तो स्कूल पेरेंट्स को खेती-बाड़ी के छोटे-मोटे कामों के लिए बिना ब्याज के लोन भी दे देता है। बच्चे अब कॉपी, पेन या कंपास खरीदने के लिए मां-बाप से रुपए नहीं लेते।
    - क्लास 3 से 5 तक के सभी बच्चों का बैंक में इस बार खाता खुलवा दिया है। किसी बच्चे का एक हजार रुपए तक ही हम अपने पास रखते हैं। इससे ज्यादा होने पर बचत की रकम उसके अकाउंट में जमा करवा दी जाती हैं।
    आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...
  • प्राइमरी स्टूडेंट्स ने ऐसे शुरू किया बैंक, अब पेरेंट्स को बिना ब्याज देते हैं लोन
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bilaspur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Primary Children Started A Saving Bank By Saving Their Pocket Money
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Bilaspur

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×