Hindi News »Chhattisgarh News »Bilaspur News» Provisional Admission Bure To Stop Nomination

485 का प्रोविजनल एडमिशन बीयू ने नामांकन पर लगाई रोक

Bhaskar News | Last Modified - Nov 05, 2017, 06:13 AM IST

कॉलेजों की गलती से छात्रों को साल बर्बाद हो सकता है।
  • 485 का प्रोविजनल एडमिशन बीयू ने नामांकन पर लगाई रोक
    बिलासपुर।बिलासपुर यूनिवर्सिटी से संबद्ध कई कॉलेजों ने बिना नियम के प्रोविजनल एडमिशन ले लिया है। वहीं बिलासपुर यूनिवर्सिटी ने प्राचार्य नहीं होने की वजह से इस वर्ष 21 कॉलेजों को प्राइवेट छात्रों की परीक्षा लेने से भी वंचित कर दिया है। ऐसे में इन कॉलेजों ने जिन छात्रों का प्रोविजनल एडमिशन लिया है, उनका भविष्य बर्बाद हो सकता है।
    - बिलासपुर यूनिवर्सिटी से संबद्ध 160 कॉलेज हैं। इसमें 54 शासकीय, 4 अनुदान प्राप्त, 41 बीएड और 61 प्राइवेट कॉलेज हैं। इन कॉलेजों में इस वर्ष ऑनलाइन एडमिशन हुअा है। मेरिट के आधार पर हुए एडमिशन में कुल 97 हजार 76 छात्रों ने एडमिशन लिया है, जो पिछले वर्ष से 61 हजार कम है।
    - वहीं अब नियमित छात्रों का ऑनलाइन नामांकन हुआ है। इसके अलावा प्राइवेट छात्रों की भी ऑनलाइन नामांकन की तिथि खत्म हो गई। इस वर्ष जिन कॉलेजों में प्राचार्य नहीं हैं, वहां प्राइवेट छात्रों का नामांकन नहीं हो रहा है। ऐसे कॉलेजों का पोर्टल यूनिवर्सिटी ने बंद कर दिया है।
    - ऐसे 21 कॉलेज हैं, जहां नियमों के विपरीत प्रोविजनल छात्रों का एडमिशन ले लिया गया है। अब इन कॉलेजों को यूनिवर्सिटी ने नामांकन भरने पर रोक लगा दी है। वहीं प्राइवेट छात्रों के नामांकन के लिए यूनिवर्सिटी ने 49 शासकीय, 4 अनुदान प्राप्त और 20 प्राइवेट कॉलेजों का पोर्टल खोला था, इसमें ही प्राइवेट छात्र नामांकन भरें हैं। रोक लगाने वाले कॉलेजाें में लगभग 500 छात्र ऐसे हैं, जो प्रैक्टिकल विषय में प्रोविजनल एडमिशन लिए हैं। अब इन छात्रों को यूनिवर्सिटी नामांकन भरने अनुमति नहीं दे रही है। ऐसे में इन छात्रों का साल बर्बाद हो सकता है।
    तिथि खत्म होने के बाद आया जवाब
    डीएलएस कॉलेज ने लगभग 200 छात्रों को प्रोविजनल एडमिशन दिए हैं, इसमें कुछ छात्रों ने प्रैक्टिकल विषय में एडमिशन लिया है। अब इन छात्रों का नामांकन नहीं हो पा रहा है, क्योंकि यूनिवर्सिटी ने रोक लगा दी है।
    डीएलएस कॉलेज के चेयरमैन बसंत शर्मा ने कहा कि इन छात्रों के भविष्य का सवाल है, इसके लिए यूनिवर्सिटी को छात्रहित में निर्णय लेने पत्र लिखा गया था। यहां तक यूनिवर्सिटी काे लिखा था कि अन्य कॉलेजों में भी इन छात्रों का नामांकन दे दिया जाए, लेकिन यूनिवर्सिटी ने नामांकन फार्म भरने की तिथि खत्म होने के बाद पत्र का जवाब दिया है।
    प्रथम वर्ष में प्रोविजनल लेने का नहीं है नियम
    बिलासपुर यूनिवर्सिटी की कुलसचिव डॉ. इंदू अनंत ने बताया कि किसी भी कॉलेज में प्रथम वर्ष में प्रोविजनल एडमिशन लेने का नियम नहीं है। प्रोविजनल एडमिशन उन्हीं छात्रों को दिया जाता है, जिन छात्रों को पहले सेमेस्टर में सप्लीमेंट्री आ गया होता है और उसने रिवेल का फार्म भरा होता है। अगर रिवेल का रिजल्ट आने में देर होती है तो ऐसे छात्रों को प्रोविजनल एडमिशन देते हैं, ताकि वे पास हो जाएं तो अगले सेमेस्टर में पहुंच जाएं।
    इन कॉलेजों ने दिए हैं प्रोविजनल एडमिशन
    कॉलेज छात्रों की संख्या
    डीएलएस 211
    शासकीय कॉलेज कोरबा 48
    केएमपी कॉलेज रायगढ़ 26
    लोचन प्रसाद कॉलेज सारंगढ़ 31
    महामाया कॉलेज रतनपुर 12
    डॉ. भंवर सिंह पोर्ते 16
    कोटा कॉलेज 16
    डीपी विप्र लॉ 04
    डीपी विप्र कॉलेज 04
    सीएमडी कॉलेज 02
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bilaspur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Provisional Admission Bure To Stop Nomination
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Bilaspur

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×