Hindi News »Chhattisgarh News »Bilaspur News» Retrieval System Will Take Place On Pune Basis In Time To Remove Results

बीयू में समय पर रिजल्ट निकालने पुणे की तर्ज पर लगेगा रिट्रीवल सिस्टम

रामप्रताप सिंह। | Last Modified - Nov 06, 2017, 07:08 AM IST

75 लाख की लागत से 5 स्टोरेज कम रिट्रीवल सिस्टम लगाए जाएंगे, 20 रैक की 5 मशीनों के लिए टेक मार्क से अनुबंध।
  • बीयू में समय पर रिजल्ट निकालने पुणे की तर्ज पर लगेगा रिट्रीवल सिस्टम
    ऐसी होती है रिट्रीवल सिस्टम की रैक।
    बिलासपुर।बिलासपुर यूनिवर्सिटी अब पुणे यूनिवर्सिटी की तर्ज पर अपने आप को अपडेट कर रही है। बिलासपुर यूनिवर्सिटी परीक्षा विभाग में एक ऐसी मशीन लगाने जा रही है, जिसमें छात्रों के रोल नंबर डालते ही उनकी उत्तरपुस्तिका रैक से बाहर निकल आएगी। अब उत्तर पुस्तिका को ढूंढने में कई दिन नहीं लगेंगे, बल्कि एक मिनट के अंदर ही वह मिल जाएगी। पहले चरण में 5 मशीनें लगाई जाएंगी, इनकी लागत 75 लाख रुपए है। इसके लिए यूनिवर्सिटी ने टेक मार्क कंपनी से अनुबंध किया है। कंपनी के अधिकारियों ने यूनिवर्सिटी में मशीन लगने वाले स्थान का भी निरीक्षण किया है।
    - बिलासपुर यूनिवर्सिटी से संबद्ध 160 कॉलेज हैं। इन कॉलेज में लगभग 1 लाख 60 हजार छात्र अध्ययनरत हैं। इन छात्रों की परीक्षा होने के बाद रिजल्ट निकलने में काफी समय लग जाता है। इन छात्रों का रिजल्ट घोषित करने में बिलासपुर यूनिवर्सिटी 2 से 3 महीने लगा देती है।
    - देरी की वजह उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन और इनके रख-रखाव होता है। कई बार ऐसी स्थिति आती है कि परीक्षा के बाद सभी कॉलेजों से उत्तरपुस्तिका यूनिवर्सिटी पहुंचती हैं। इस बीच कई बार एक विभाग की उत्तरपुस्तिका दूसरे विभाग में मिल जाती हैं।
    - इससे उस छात्र की उत्तरपुस्तिका खोजने में समय लग जाता है और रिजल्ट देर से घोषित होता है। वहीं रिवेल का फार्म भरने वाले छात्र की उत्तरपुस्तिका खोजने में ही काफी समय लग जाता है। बीयू में रिट्रीवल सिस्टम लगने के बाद सारी समस्याओं का समाधान हो जाएगा।
    पुणे यूनिवर्सिटी में लगी है 25 मशीनें बढ़ा सकते हैं रैक
    - बिलासपुर यूनिवर्सिटी के सहायक कुलसचिव सीएचएल टंडन ने बताया कि हम अपने हिसाब से रैक बढ़ा सकते हैं। अभी 20 रैक की मशीन लगा रहे हैं। इस रैक में सर्वप्रथम विभाग के हिसाब से उत्तरपुस्तिका रखी जाएगी।
    - जिस रैक में जिस विभाग की जितने से जितने रोलनंबर तक उत्तरपुस्तिका रहेगी। उसका डिटेल कंप्यूटर में अपडेट कर दिया जाएगा। सावित्री बाई फुले यूनिवर्सिटी में पुणे में 25 मशीन लगी हैं। पुणे यूनिवर्सिटी से संबद्ध लगभग 400 कॉलेज हैं।
    - यहां लगभग 50 लाख उत्तरपुस्तिकाएं हर साल होती हैं। इसके बाद इस यूनिवर्सिटी में 1 महीने के अंदर रिजल्ट घोषित हो जाता है। इस यूनिवर्सिटी में एडमिशन से लेकर नामांकन, परीक्षा फार्म, उत्तरपुस्तिका का मूल्यांकन और रिजल्ट घोषित करना सभी ऑनलाइन है।
    - बिलासपुर यूनिवर्सिटी स्टोरेज कम रिट्रीवल सिस्टम लगा रही है। इसके लिए यूनिवर्सिटी ने टेक मार्क कंपनी से एमओयू किया है। कंपनी एक मशीन यूनिवर्सिटी में सेट करके 15 लाख रुपए ले रही है। यह मशीन 20 रैक की रहेगी। इसकी साइज 3 फीट चौड़ी, 6 फीट लंबी है।
    - कंपनी ने बीयू में मशीन लगने वाले स्थान का निरीक्षण किया है। वह एक मशीन के लिए 6 बाई 8 की जगह निर्धारित की है। बिलासपुर यूनिवर्सिटी में यह मशीन नीचे परीक्षा विभाग में रखी जाएंगी। वहीं इसका रास्ता गोपनीय विभाग में दिया जाएगा।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bilaspur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Retrieval System Will Take Place On Pune Basis In Time To Remove Results
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Bilaspur

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×