Hindi News »Chhatisgarh »Bilaspur» Elephants Again Demolished Houses In Korba

मकान खाली कराने के आधे घंटे बाद हाथियों ने तोड़ा

उत्पात : ग्राम बासीनखार में चावल और धान खाई

dainikbhaskar.com | Last Modified - Aug 12, 2018, 10:48 AM IST

मकान खाली कराने के आधे घंटे बाद हाथियों ने तोड़ा

कोरबा।वन परिक्षेत्र कोरबा में घूम रहे सरगुजा दल के दो हाथियों ने शुक्रवार की रात बासीनखार में जमकर उत्पात मचाया। वन अमले ने पहले से ही मकानों को खाली कराया था। इससे उनकी जान बच गई। आधे घंटे बाद ही हाथियों ने तीन मकानों को तोड़कर चावल खा गए। साथ ही बाइक व घर के अन्य सामान को क्षतिग्रस्त कर दिया। वन अमले ने सायरन बजाकर व मशाल जलाकर हाथियों को खदेडऩे का प्रयास किया। लेकिन हाथी नहीं भागे। अभी भी गांव के आसपास जंगल में हाथी घूम रहे हैं।

- गुरुवार की रात दोनों हाथियों ने रजगामार के रावणभाठा में तीन मकानों को तोड़ा था। इसके बाद हाथी बासीनखार की ओर बढ़ गए थे। वन अमले में ईश्वर सिंह अघरिया, धान सिंह यादव के मकानों को रात 8.30 बजे खाली करा दिया।

- उनके परिवार को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया। इसके बाद रात 9 बजे हाथियों ने मकानों को तोड़ना शुरू कर दिया। यहां रखे चावल को खा गए। इसके बाद बाइक समेत अन्य सामान को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। वन अमला सायरन बजाकर हाथियों को खदेडऩे का प्रयास करता रहा। साथ ही मशाल जलाकर भगाने का प्रयास किया। लेकिन हाथी मकानों को तोड़कर चावल को खाते रहे।

- गांव के कुछ लोग नशे में थे, उन्हें भी वन कर्मियों ने बाहर निकाला। गांव में रोज मुनादी कराकर लोगों को अब पंचायत भवन में ठहराने की व्यवस्था की जा रही है। इसके बाद भी ग्रामीण मानने को तैयार नहीं है। दोनों हाथी धान व चावल खाने के आदी हो चुके हैं, इसी वजह से मकानों को तोड़ रहे हैं। हाथियों के उत्पात को देखते हुए वाइल्ड लाइफ डिवीजन बनाने की जरूरत महसूस की जा रही है। इसके बिना हाथी उत्पात पर नियंत्रण नहीं पाया जा सकता। अभी पूरा फोकस वन अमले का हाथियों पर ही है।


39 हाथियों का दल कोरकोमा रजगामार जंगल में
- एसडीओ व प्रशिक्षु आईएफएस मनीष कश्यप ने बताया कि 39 हाथियों का दल कोरकोमा व रजगामार जंगल के आसपास ही घूम रहे हैं। इसकी ट्रैकिंग की जा रही है। लोगों को सावधान कर मकान खाली कराने कहा जा रहा है। जंगल में अभी बांस को ही भोजन बना रहे हैं। झुंड में रहने वाले हाथी शांत है लेकिन दंतैल व सरगुजा दल में शामिल हाथी ही उत्पात मचा रहे हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bilaspur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×