• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • सब इंजीनियर व मंुशी का लोकेशन नहीं तलाश पाई पुलिस, नक्सलियों के कब्जे मंे चार दिन बीते
--Advertisement--

सब इंजीनियर व मंुशी का लोकेशन नहीं तलाश पाई पुलिस, नक्सलियों के कब्जे मंे चार दिन बीते

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 02:05 AM IST


भास्कर संवाददाता|कुसमी

शनिवार को नक्सलियांे द्वारा अपहृत सब इंजीनियर व मुंशी का अब तक कोई सुराग नहींे मिल पाया है। वारदात के बाद फोर्स झारखंड की सीमा पर जंगलों में सर्चिंग कर अपहृत लोगों की तलाश में जुटी हुई है। गश्त में सीआरपीएफ सहित जिला पुलिस बल की चार टीमें लगी हुई हैं लेकिन चार दिन की दौड़धूप के बाद भी पुलिस दोनों अपह्रत का कोई सुराग नहीं लगा पाई है।

पीएमजीएसवाई द्वारा बलरामपुर जिले के सामरी थाना अंतर्गत सबाग से चुनचुना-पुंदाग तक 23 किमी सड़क निर्माण कार्य के दौरान शनिवार सुबह बंदरचुआ के पास करीब दो दर्जन हथियारबंद नक्सलियों ने बूढ़ाआम्बा पहुुंचकर तीन हाइवा एवं एक जेसीबी रोलर को आग के हवाले कर कर दिया था। इसी दौरान सड़क निर्माण कार्य का निरीक्षण करने पहुचे सब इंजीनियर पेत्रस डूंगडूंग व ठेकेदार के दो मुंशी राजू गुप्ता और शंकर बिहारी को नक्सलियों ने अपने कब्जे में ले लिया।

उसी रात राजीव गुप्ता की तबियत खराब होने पर नक्सली उसे चुनचुना में ही छोड़कर आगे निकल गए। बताया गया कि नक्सलियों को भेजी जाने वाली लेवी की जानकारी पुलिस को लग गई थी। यही कारण है कि नक्सलियों को उक्त रकम नहीं मिल पाई। इसके कारण नक्सली बौखलाए हुए हैं।

सुरक्षित हैं दोनों, जल्द तलाश लेंगे

अपहृत सब इंजीनियर व मुंशी को तलाशने पुलिस की अलग-अलग टीमें लगी हैं। एसडीओपी मनोज तिर्की ने बताया कि दोनोंे की तलाश लगातार की जा रही है। उम्मीद है कि वे जहां भी हैं सुरक्षित होंगे, उन्हें जल्द तलाश कर लिया जाएगा। सामरी में ही रहकर पूरे आपरेशन की मॉनिटरिंग कर रहे बलरामपुर एसपी टीआर कोशिमा ने कहा कि अपहृत सब इंजीनियर व मुंशी का अभी तक कोई सुराग नही मिल सका है। पुलिस टीम लगातार इलाके में सर्चिंग कर रही हैं।

पंुदाग तक सड़क निर्माण अधर में लटका

पीएमजीएसवाई योजना के तहत ग्राम सबाग से चुनचुना-पुंदाग तक करीब 23किमी सड़क निर्माण कार्य कराया जा रहा है। सबाग से बंदरचुआ तक करीब 5किमी सड़क का निर्माण पूरा हो चुका है। घाटों की कटिंग की जा चुकी है। सड़क बन जाने से चुनचुना-पुंदाग के ग्रामीण मुख्यधारा से जुड़ पाएंगे। इसे लेकर बलरामपुर के पूर्व कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने काफी प्रयास किया था। नक्सलियों द्वारा सड़क निर्माण कार्य को बाधित करने की घटना की उन्होंने निंदा की हैं।

कमांडर वीरसाय सहित दो दर्जन नक्सलियों पर केस

वाहनोंे में आगजनी एवं अपहरण की वारदात में नक्सली कमांडर वीरसाय के दस्ते के शामिल होने की संभावना जताई गई है। झारखंड व छत्तीसगढ़ में सक्रिय वीरसाय कई गंभीर वारदातों को अंजाम दे चुका है। सामरी इलाके में हुई वारदात के मामले में पुलिस ने हाइवा चालक की रिपोर्ट पर वीरसाय सहित नवीन, विमल, बलराम, मृत्यंुजय, पंकज, राजू, मनोज, अमन, मनीष सहित करीब दो दर्जन नक्सलियों के खिलाफ अपराध कायम किया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..