• Home
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • कलेक्टोरेट में मितानिनों ने हल्ला बोला, कहा-उन्हें एनएचएम के अधिकारियों ने अपमानित किया
--Advertisement--

कलेक्टोरेट में मितानिनों ने हल्ला बोला, कहा-उन्हें एनएचएम के अधिकारियों ने अपमानित किया

प्रशासनिक रिपोर्टर | बिलासपुर जिले की स्वास्थ्य मितानिनों ने कलेक्टोरेट का घेराव कर एनएचएम के अधिकारियों पर...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 02:20 AM IST
प्रशासनिक रिपोर्टर | बिलासपुर

जिले की स्वास्थ्य मितानिनों ने कलेक्टोरेट का घेराव कर एनएचएम के अधिकारियों पर अपमानित किए जाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि यदि उनके साथ अभद्रता की जाएगी तो वे आंदोलन करने मजबूर हो जाएंगे। उन्होंने प्रशिक्षण के दौरान यात्रा व्यय दिए जाने की मांग भी की।

शुक्रवार को प्रदेश स्वास्थ्य मितानिन संघ के बैनर तले बड़ी संख्या में मितानिनें कलेक्टोरेट पहुंचीं। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ नारेबाजी की। उन्होंने बताया कि एक दिन पहले लखीराम अग्रवाल ऑडिटोरियम में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। उस दौरान उनसे कहा गया कि बगैर कार्य किए प्रोत्साहन राशि के लिए दावा पत्रक भरते हो। सभी को नोटिस दिया जाएगा और नौकरी से निकाल दिया जाएगा। 20 मिनट तक उन्हें अपमानित किया जाता रहा। इसी तरह के अपमान का सामना मितानिनों को अक्सर करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि दावा पत्रक की जांच का जिम्मा एएनएम का हे, ऐसे में मितानिन बिना कार्य के राशि नहीं ले सकती। उन्होंने प्रशिक्षण कार्यक्रम में बुलाकर यात्रा व्यय नहीं देना बताया। उन्होंने कहा कि यात्रा व्यय दिया जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण कार्यक्रम में 435 मितानिनों को बुलाया गया था। इसमें 150 मितानिन पहुंची। सचिव के एक पत्र में यात्रा व भोजन भत्ता दिए जाने की बात कही गई थी लेकिन उसका पालन नहीं किया जा रहा है। ज्ञापन सौंपने वालों में दया यादव, डोमनिया राठौर, शशी केवर्त, उमावती, लक्ष्मी साहू, कमला रैदास सहित बड़ी संख्या में मितानिनें मौजूद थीं।

कलेक्टोरेट में शुक्रवार को नारेबाजी के बाद ज्ञापन सौंपती मितानिन।