• Home
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • कांग्रेस नेता पांडेय बोले- ये कैसा सुशासन, पीलिया पर हाईकोर्ट को दखल देना पड़ रहा..
--Advertisement--

कांग्रेस नेता पांडेय बोले- ये कैसा सुशासन, पीलिया पर हाईकोर्ट को दखल देना पड़ रहा..

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता शैलेष पांडे ने आरोप लगाया कि सुशासन के नाम बीते 15 साल से सरकार सुशासन का ढोंग पीट...

Danik Bhaskar | May 03, 2018, 02:25 AM IST
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता शैलेष पांडे ने आरोप लगाया कि सुशासन के नाम बीते 15 साल से सरकार सुशासन का ढोंग पीट रही है। पीलिया जैसी गंभीर बीमारी से निबटने के लिए माननीय हाईकोर्ट को दखल देना पड़ रहा है । बात यहीं पर खत्म नहीं हो रही है सड़क, नाली, पानी, प्रदूषण , जंगली जानवरों का राजधानी में घुसना और अब पीलिया के लिए भी उच्च न्यायालय को निर्देश देना पड़ रहा है। यह सरकार की वास्तविकता बयां करने वाली स्थिति है। उन्होंने आरोप लगाया कि छत्तीसगढ़ सरकार में बीजेपी के शासन का आलम ऐसा ही है कि प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री रमन सिंह के जिले को केंद्र सरकार द्वारा नक्सल जिला घोषित कर दिया जाता है, और मुख्यमंत्री नक्सलियों के खात्मे का दावा करते घूम रहे हैं । इतना ही नहीं जंगलराज और जंगल के काम करने के तरीकों का यह है कि कुछ दिन पहले गजराज का जत्था राजधानी मुख्यमंत्री निवास के आसपास घुस गया, और पूरे प्रदेश का वन अमला नींद है। राजधानी रायपुर के नहरपारा को खाली कराने का आदेश हाईकोर्ट देना पड़ा, ताकि लोगों की जानें बचाई जा सके । जहां स्वयं सरकार और उसके मंत्रियों का निवास हैं, वहां स्वास्थ्य की इतनी खराब स्थिति है कि माननीय न्यायालय को यह बोलना पड़ रहा है कि सरकार ठीक से व्यवस्था करें । यह इस बात की ओर संकेत करता है कि अब भाजपा सरकार के दिन पूरे हो गए हैं।