• Home
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • अब धड़ाधड़ बंटने लगीं साइकिलें, चार स्कूल के कैंपस हुए खाली, तीन दिन में दो हजार बांटने का किया दावा
--Advertisement--

अब धड़ाधड़ बंटने लगीं साइकिलें, चार स्कूल के कैंपस हुए खाली, तीन दिन में दो हजार बांटने का किया दावा

श्रम विभाग ने धड़ाधड़ साइकिलें बांटनी शुरू कर दी है। दो दिन में दो हजार आवेदकों को इसका लाभ मिला है। स्कूल परिसर से...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 02:25 AM IST
श्रम विभाग ने धड़ाधड़ साइकिलें बांटनी शुरू कर दी है। दो दिन में दो हजार आवेदकों को इसका लाभ मिला है। स्कूल परिसर से सारी साइकिलें हटाई जा रही हैं। इससे काफी हद तक स्कूल प्रबंधन को राहत भी राहत मिली है। श्रमायुक्त का कहना है कि पहले वर्ष 2016 के आवेदकों को यह वितरित हो रहा है। इसके बाद जो बचेगा संबंधित लोगों को दिया जाएगा।

दैनिक भास्कर ने खबर में बताया था कि कई स्कूल कैंपस में रखी साइकिलें बारिश में बर्बाद हो रही हैं। इन्हें स्कूल परिसर में खुले मैदान तले रख दिया गया है। बड़ी बात यह कि योजना में कई अपात्रों ने भी एप्लीकेशन लगा दिया है। वे भी इसकी मांग कर रहे हैं। श्रम विभाग संचालक अनिता गुप्ता ने साफ कर दिया था कि सारे अपात्रों का आवेदन निरस्त कर दिया जाएगा। यहां बड़े पैमाने पर लोगों की भीड़ इनके साथ पहुंचने वाले वार्ड पार्षद और दूसरे नेताओं के एप्राेच करने या करवाने के की बात पर उन्होंने कहा है कि सरकार ने जो नियम बनाए हैं। उसी के तहत आगे काम काम बढ़ेगा। जिन लोगों के लिए सरकार ने मापदंड तय किए हैं, उन्हें ही इसे वितरित किया जाएगा। उनके मुताबिक इस योजना में किसी भी तरह के दलाल या दूसरे लोगों को सक्रिय नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने साफतौर पर कहा है कि लोग इसके लिए खुद पुलिस से शिकायत करने या दफ्तर में सूचना देने के लिए किसी तरह से बाध्य नहीं किए गए हैं। श्रमायुक्त ने बताया है कि अब लाल बहादुर शास्त्री स्कूल मैदान, खपरी और बिल्हा स्क्ूलों से इन्हें हटा दिया गया है। कोई 1800 साइकिलें लाल बहादुर शास्त्री मैदान में रखी थीं। इन्हें अब आवंटित कर दिया गया है। विभाग के मुताबिक असंगठित कर्मकार से जुड़े श्रमिक के लिए 3 हजार साइकिल प्रदान होगी। इनमें 18 से 40 साल तक की महिलाएं आवेदन कर सकती हैं। पुरुषों को भी इसमें शामिल किया गया है। वहीं बीओसी यानी संगठित कर्मकार के लिए पुरुषों में 18 से 50 वर्ष के 2015 से पहले के रजिस्ट्रेशन वाले और महिलाओं में 18 से 35 साल की कुछ महीने पहले पंजीयन कराने वालों को इसके लिए पात्र बताया गया है। इसके कुछ और भी कैटिगीरी हैं, जो गांवों में रहने वाले श्रमिकों में शामिल हैं। उन्हें भी इसका लाभ देने की बात कही जा रही है।

12 जुलाई को प्रकाशित खबर।

साइकिलें वितरित हो रही हैं