Hindi News »Chhatisgarh »Bilaspur» खतरनाक पहाड़ियों को काटने की तैयारी इंजीनियरिंग विभाग ने प्रस्ताव भेजा

खतरनाक पहाड़ियों को काटने की तैयारी इंजीनियरिंग विभाग ने प्रस्ताव भेजा

खोंगसरा-भनवारटंक-खोडरी के बीच पांच खतरनाक पहाड़ियों को काटकर रेलवे लाइन के दोनों तरफ की चौड़ाई बढ़ाने की कवायद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 14, 2018, 02:25 AM IST

खोंगसरा-भनवारटंक-खोडरी के बीच पांच खतरनाक पहाड़ियों को काटकर रेलवे लाइन के दोनों तरफ की चौड़ाई बढ़ाने की कवायद शुरू हो चुकी है। महाप्रबंधक के निर्देश के बाद इंजीनियरिंग विभाग ने पहाड़ कटिंग का प्लान बनाकर सौंप दिया है। शीघ्र ही इसका काम भी शुरू कराया जाएगा।

पिछले सप्ताह तीन दिन तक खोंगसरा, भनवारटंक और खोडरी के बीच हुई बारिश से एक स्थान पर भूस्खलन के बाद अप लाइन पांच घंटे तक बंद था। इस स्थान पर ऊंची पहाड़ियों के बीचों रेलवे ट्रैक है। ट्रैक के दोनों ओर डेढ़-डेढ मीटर ही जगह है। अब तक बड़े-छोटे चट्टान ही ट्रैक पर गिरते रहे। ऐसी पहाड़ियां खोंगसरा-भनवारटंक-खोडरी के बीच 10-12 स्थानों पर हैं जो कि ट्रैक के नजदीक हैं। अब जबकि भूस्खलन का मामला सामने आया तब रेलवे जोन महाप्रबंधक सुनील सिंह सोइन ने इंजीनियरिंग विभाग को ऐसी पहाड़ियों की कटिंग का प्रस्ताव तैयार करने कहा था।

फिलहाल पांच पहाड़ियों को काटा जाना है

करगीरोड से भनवारटंक के बीच इन स्थानों पर है खतरा

खंभा नंबर 784/0 से लेकर 788/11 तक ऊंची व फिसलन भरी पहाड़ी।

खंभा नंबर 788/11 से लेकर 792/23 तक दुर्गम ऊंची पहाड़ी।

खंभा नंबर 790/45 से 792/14 तक फिसलन भरी गहरी कटिंग वाली पहाड़ी।

खंभा नंबर 792/9 से 792/33 तक गिरने वाली बोल्डर, फिसलन और गहरी कटिंग वाली पहाड़ी।

खंभा नंबर 792/33 से 792/49 तक गिरने वाले बोल्डर व फिसलन भरी चट्टान।

खंभा नंबर 792/23 से 796/23 तक पहाड़ी से बोल्डर गिरते हैं।

भनवारटंक से खोडरी के बीच इन जगहों पर खतरा

खंभा नंबर 797/71 से 798/25 तक पहाड़ी से बोल्डर गिरते हैं।

खंभा नंबर 798/23 से 799/07 तक पहाड़ी से बोल्डर गिरते हैं। फिसलन है। अप लाइन की तरफ गहरी कटिंग वाली है।

खंभा नंबर 796/21 से 800/31 तक मोबाइल पेट्रोलिंग।

खंभा नंबर 800/19 से 800/31 तक मोबाइल पेट्रोलिंग

खंभा नंबर 796/21 से 800/31 पर डाउन लाइन में पहाड़ कटकर गिरते हैं।

खंभा नंबर 800/31 से 804/9 तक बोल्डर गिरते हैं और पहाड़ कटते हैं।

खंभा नंबर 803/21 से 803/05 तक बोल्डर गिरते हैं।

खंभा नंबर 804/9 से 807/12, 801/21 से 802/17 तक बोल्ड गिरते हैं।

5 से 8 मीटर तक तक काटी जाएगी पहाड़ी

जिस स्थान पर भूस्खलन हुआ था वहां पर रेलवे ट्रैक के दोनों तरफ पांच मीटर चौड़ाई तक पहाड़ काटा जाएगा। इसके लिए प्लान तैयार कर लिया गया है। जैसे ही हेडक्वार्टर से मंजूरी मिलेगी मौके पर काम शुरू करवा दिया जाएगा। चौड़ाई दोनों तरफ यानी कि ढाई-ढाई मीटर तक की जाएगी। ऐसा मौके पर लगभग 50 मीटर की लंबाई तक खोदी जाएगी।

पटरियों के किनारे कटेंगी पहाड़ियां

करगीरोड से खोडरी तक जितनी भी पहाड़ियां रेलवे लाइन के करीब हैं सभी को 5 से 8 मीटर तक काटकर पटरियों के बगल में जमीन चौड़ी की जाएगी। इसका प्रस्ताव इंजीनियरिंग विभाग ने तैयार कर ली है। विभागीय प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद मौके पर काम शुरू होगा। डाॅ. पीसी त्रिपाठी, सीपीआरओ एसईसीआर बिलासपुर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bilaspur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×