• Home
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • खतरनाक पहाड़ियों को काटने की तैयारी इंजीनियरिंग विभाग ने प्रस्ताव भेजा
--Advertisement--

खतरनाक पहाड़ियों को काटने की तैयारी इंजीनियरिंग विभाग ने प्रस्ताव भेजा

खोंगसरा-भनवारटंक-खोडरी के बीच पांच खतरनाक पहाड़ियों को काटकर रेलवे लाइन के दोनों तरफ की चौड़ाई बढ़ाने की कवायद...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 02:25 AM IST
खोंगसरा-भनवारटंक-खोडरी के बीच पांच खतरनाक पहाड़ियों को काटकर रेलवे लाइन के दोनों तरफ की चौड़ाई बढ़ाने की कवायद शुरू हो चुकी है। महाप्रबंधक के निर्देश के बाद इंजीनियरिंग विभाग ने पहाड़ कटिंग का प्लान बनाकर सौंप दिया है। शीघ्र ही इसका काम भी शुरू कराया जाएगा।

पिछले सप्ताह तीन दिन तक खोंगसरा, भनवारटंक और खोडरी के बीच हुई बारिश से एक स्थान पर भूस्खलन के बाद अप लाइन पांच घंटे तक बंद था। इस स्थान पर ऊंची पहाड़ियों के बीचों रेलवे ट्रैक है। ट्रैक के दोनों ओर डेढ़-डेढ मीटर ही जगह है। अब तक बड़े-छोटे चट्टान ही ट्रैक पर गिरते रहे। ऐसी पहाड़ियां खोंगसरा-भनवारटंक-खोडरी के बीच 10-12 स्थानों पर हैं जो कि ट्रैक के नजदीक हैं। अब जबकि भूस्खलन का मामला सामने आया तब रेलवे जोन महाप्रबंधक सुनील सिंह सोइन ने इंजीनियरिंग विभाग को ऐसी पहाड़ियों की कटिंग का प्रस्ताव तैयार करने कहा था।

फिलहाल पांच पहाड़ियों को काटा जाना है

करगीरोड से भनवारटंक के बीच इन स्थानों पर है खतरा







भनवारटंक से खोडरी के बीच इन जगहों पर खतरा









5 से 8 मीटर तक तक काटी जाएगी पहाड़ी

जिस स्थान पर भूस्खलन हुआ था वहां पर रेलवे ट्रैक के दोनों तरफ पांच मीटर चौड़ाई तक पहाड़ काटा जाएगा। इसके लिए प्लान तैयार कर लिया गया है। जैसे ही हेडक्वार्टर से मंजूरी मिलेगी मौके पर काम शुरू करवा दिया जाएगा। चौड़ाई दोनों तरफ यानी कि ढाई-ढाई मीटर तक की जाएगी। ऐसा मौके पर लगभग 50 मीटर की लंबाई तक खोदी जाएगी।

पटरियों के किनारे कटेंगी पहाड़ियां