• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • श्रृंगार, वैदिक मंत्र, भजन कीर्तन महाआरती के साथ मना ब्रह्मोत्सव
--Advertisement--

श्रृंगार, वैदिक मंत्र, भजन-कीर्तन महाआरती के साथ मना ब्रह्मोत्सव

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:30 AM IST

Bilaspur News - बह्मोत्सव पर भगवान की मंगल श्रृंगार के साथ वैदिक मंत्रों के उच्चारण से पूजा-अर्चना शुरू हुई। भजन-कीर्तन का दौर...

श्रृंगार, वैदिक मंत्र, भजन-कीर्तन महाआरती के साथ मना ब्रह्मोत्सव
बह्मोत्सव पर भगवान की मंगल श्रृंगार के साथ वैदिक मंत्रों के उच्चारण से पूजा-अर्चना शुरू हुई। भजन-कीर्तन का दौर चलता रहा। श्रद्धालुओं ने भजन-कीर्तन का आनंद लिया। इसके बाद महाआरती हुई। श्रद्धालुओं ने भगवान की महाआरती करने के बाद प्रसाद ग्रहण किया। व्यंकटेश मंदिर में बुधवार को बह्मोत्सव मनाया गया। सुबह 8.30 बजे भगवान की विधि-विधान से पूजा-अर्चना शुरू हुई। भगवान वेंकटेश का महाअभिषेक संस्कृत महाविद्यालय के विद्यार्थियों के द्वारा वैदिक मंत्रों उच्चारण से किया। भगवान का महाभिषेक पंचा अमृत से किया गया। इसके बाद श्री सूत का पाठ हुआ। फिर भजन-कीर्तन का दौर शुरू हुआ। भगवान का मंगल श्रृंगार किया गया। इसके बाद दोपहर 12 बजे महाआरती हुई। इसके बाद विष्णु सहस्रनाम से तुलसी अर्चना, स्त्रोत पाठ किया गया। भक्तों को विशेष गोष्ठी प्रसाद का वितरण किया गया। इस अवसर पर मंदिर को आकर्षक फूल बंगला से सुसज्जित किया गया था। इसके अलावा केले के पेड़ का मंडप बनाकर फूल मालाओं से मंदिर परिसर को सजाया गया था। इस अवसर पर भगवान के दर्शन करने मंदिर में भक्तों की कतार लगी रही। मंदिर के महंत डाॅ. कौशलेंद्र प्रसन्नाचार्य, महावीर शर्मा, गोपाल कृष्ण, पवन शर्मा, नरेश अग्रवाल, रामहरि, जुगल गाडोदिया आदि उपस्थित रहे।

X
श्रृंगार, वैदिक मंत्र, भजन-कीर्तन महाआरती के साथ मना ब्रह्मोत्सव
Astrology

Recommended

Click to listen..