बिलासपुर

  • Home
  • Chhattisgarh
  • Bilaspur
  • एसडीएम ने अटल को थमाया नोटिस, कहा- दूसरे बूथ पर आपत्ति का आपको अधिकार नहीं
--Advertisement--

एसडीएम ने अटल को थमाया नोटिस, कहा- दूसरे बूथ पर आपत्ति का आपको अधिकार नहीं

जिले में 14 हजार मतदाताओं की वास्तविकता पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए सूची पुनरीक्षण की मांग करते हुए शिकायत प्रदेश...

Danik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:35 AM IST
जिले में 14 हजार मतदाताओं की वास्तविकता पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए सूची पुनरीक्षण की मांग करते हुए शिकायत प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव भारत निर्वाचन आयोग के पोर्टल पर डाला था। प्रदेश कांग्रेस महामंत्री का कहना है कि शहर के अधिकांश बूथ पर स्थिति गड़बड़ है। एक ही घर के दो सदस्य के नाम अलग-अलग बूथ में है। जिनकी मृत्यु हो चुकी उनके नाम विलोपित नहीं किए जा सके हैं। इधर बिलासपुर एसडीएम देवेंद्र पटेल ने प्रदेश कांग्रेस महामंत्री को नोटिस देकर सात दिनाें के अंदर जवाब मांगा है। एसडीएम ने कहा है कि एक मतदाता अपने खुद के बूथ पर आपत्ति व्यक्त कर सकता है लेकिन दूसरे बूथ पर आपत्ति करने का अधिकार उसे नहीं है।

विधानसभा चुनाव भले ही छह सात माह बाद हों लेकिन इससे जुड़ी गतिविधियां शुरू हो गई है। जिला प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव ने कुछ समय पूर्व शहर के कई बूथों का सर्वे किया था जिसमें यह बात सामने निकल कर आई थी कि बूथ लेवल पर मतदाताओं की सूची में गड़बड़ी है। इन बूथों में ऐसे कई मतदाता हैं जिनके नाम उस बूथ में हैं ही नहीं। यह भी सामने आया कि लोगों के नाम बहुत खोजने पर भी नहीं मिले। यहां तक कि दूसरे बूथ में भी नहीं। एक ही परिवार के पति प|ी के नाम भी दो अलग-अलग बूथ में है। वर्तमान में अविभाजित मध्यप्रदेश के समय वनमंत्री रह चुके स्व. बीआर यादव का नाम भी मतदाता सूची में है। ऐसी स्थिति में 14 हजार मतदाताओं के नाम की सूची पुनरीक्षण के लिए भारत निर्वाचन आयोग के आॅनलाइन पोर्टल पर डाला था लेकिन यह गलती से दूसरे नंबर के फार्म से आॅनलाइन समिट हो गया। निर्वाचन में सात नंबर का फार्म नाम काटने के लिए और 8 नंबर का फार्म नाम पुनरीक्षण के लिए होता है। यह सूची 8 नंबर के फार्म के साथ समिट होनी थी लेकिन व सात नंबर के फार्म में समिट हो गई। एसडीएम देवेंद्र पटेल ने प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव को सात दिन का नोटिस देकर जवाब मांगा है।

3 हजार लोगों के नाम जोड़ने की सूची भी डाली

कांग्रेस नेता अटल श्रीवास्तव ने बताया कि बूथ के सर्वे के दौरान ऐसे कई लोग मिले जिन्होंने बताया कि उनके नाम मतदाता सूची में हैं ही नहीं। ऐसे 3 हजार लोगों के नामों की उनके मोबाइल नंबर समेत सूची बनाई गई है। यह सूची भी भारत निर्वाचन आयोग के पोर्टल पर डाली गई है।

कागज के जहाज पर मंत्री पर भड़के कांग्रेसी

मंत्री एक भी काम बताएं जो उन्होंने किया हो: अटल

पीसीसी महामंत्री अटल श्रीवास्तव ने तंज कसते कहा कि मंत्री का कागज पर हवाई अड्डा, कागज पर अरपा प्रोजेक्ट, कागज पर स्मार्ट सिटी, कागज पर 30 हजार प्रधानमंत्री आवास, तो उन्हें कांग्रेस कागज पर ही दिखेगी। उन्होंने आरोप लगाया कि मंत्री चुनाव सामने देखकर बयानबाजी कर रहे हैं। उन्हें यह बताना चाहिए कि प्रदेश का दूसरा हवाई अड्डा बिलासपुर में क्यों शुरू नहीं हुआ? 15 साल के कार्यकाल में कोई ऐसा काम या कोई ऐसी योजना जो धरातल पर उतरी हो ? उसका ही नाम बता देते तो जनता जान जाती कि आपने कौन सा विकास कार्य किया है। बिलासपुर शहर के सभी विकास के कार्य, सभी बड़े प्रोजेक्ट, एसईसीएल, केन्द्रीय विश्वविद्यालय, एनटीपीसी सीपत, कांग्रेस सरकार की देन है। नगर पालिका से नगर निगम तक का सफर कांग्रेस सरकार की देन है।

हमने जारी किया है नोटिस


हवाई सफर के नाम जुमलेबाजी कर रहे मंत्री: शैलेष

नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल के इस बयान पर कि कांग्रेसी कागज के जहाज उड़ा रहे हैं, जुबानी जंग तेज हो गई है। कांग्रेस नेता शैलेष पांडे ने कहा कि कांग्रेस के लोग कागज के हवाई जहाज नहीं चलाते। मंत्री बिलासपुर की जनता को झूठ बोल कर छल रहे हैं। यहां से एक दिन हवाई जहाज उडे़गा। जनता परेशान है कि कब यहां हवाई अड्डा बनेगा और बिलासपुर के लोगों को हवाई सेवा मिलेगी। लेकिन भाजपा सरकार और मंत्री बस जुमलेबाजी से जनता को बहला रहे हैं। बिलासपुर से कहीं की भी कनेक्टिविटी अच्छी नहीं है। फिर मंत्री लोगों को हवाई यात्रा का झूठा सपना दिखा रहे हैं। बिलासपुर के भाजपा सांसद कह रहे हैं कि हवाई यात्रा चालू होगी, लेकिन कब से? यह पता नहीं है। जनता के हितों के लिए एक सही विपक्ष की भूमिका कांग्रेस अदा कर रहा है।

Click to listen..