हरदीडीह में किसान के घर घुसा तेंदुआ, ट्रेंक्यूलाइज कर कानन पेंडारी भेजा गया

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:00 AM IST

Champa News - भास्कर न्यूज | जांजगीर-जैजैपुर जिले के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि किसी गांव के घर में तेंदुआ जैसा खतरनाक...

Janjgeer News - chhattisgarh news farmer39s house leopard in hardidih was transmitted to kanan pendari
भास्कर न्यूज | जांजगीर-जैजैपुर

जिले के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि किसी गांव के घर में तेंदुआ जैसा खतरनाक जंगली जानवर घुस आया हो।

वन विभाग के अधिकारी इस बात की आशंका जता रहे हैं कि तेंदुआ बारनवापारा के जंगल से भटक कर गिरौदपुरी के जंगल से होते हुए पहुंचा होगा। अधिकारी का यह भी कहना है कि तेंदुआ एक दिन में इतनी दूर तय नहीं कर सकता। उनका कहना है कि कम से कम यहां तक पहुंचने में उसे तीन दिन लगे होंगे। तेंदुआ को कानन पेंडारी की टीम ने ट्रेंक्यूलाइज कर पकड़ा और अपने साथ ले गए।

जैजैपुर थाना क्षेत्र के ग्राम हरदीडीह में गुरुवार की सुबह भटकते हुए एक तेंदुआ पहुंच गया। रामाधर जांगड़े का परिवार गुरुवार की सुबह घर में नाश्ता कर रहा था उसी समय तेंदुआ उसके घर में घुस गया। तेंदुआ ने उसकी सास पर हमला भी किया, लेकिन वह बच गई और घर से सभी लोग बाहर भाग निकले। हालांकि तेंदुआ के हमले से उसकी सास को चोट आई। घर में तेंदुआ घुसने की खबर से गांव में अफरातफरी मच गई। लोगों की भीड़ मौके पर लग गई। वन विभाग के अधिकारियों को सूचना दी गई। जिले के अधिकारियों ने कानन पेंडारी के अधिकारियों को जानकारी दी। वहां से डॉ. पीके चंदन अपने पांच अन्य सदस्यों के साथ गांव पहुंचे। उन्होंने तेंदुआ को पकड़ने के लिए ट्रेंक्यूलाइज किया। करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद तेंदुआ बेहोश हुआ तो फिर उसे पिंजरा में भर कर पेंडारी कानन ले जाया गया। डीएफओ रामाकृष्णन ने बताया कि घर में घुस तेंदुआ नर था उसकी उम्र लगभग ढ़ाई साल रही होगी।

जिले में तेंदुआ आने की इतिहास की पहली घटना, अधिकारियों काे आशंका बारनवापारा की ओर से आया होगा

तेंदुआ कानन पेंडारी की टीम के संरक्षण में।

जिले के बलौदा और सक्ती क्षेत्र में है, लेकिन गांवों में नहीं आते

डीएफओ रामाकृष्णन ने बताया कि जिले में तेंदुआ के घुसने की यह पहली घटना है। उन्होंने बताया कि जिले के बलौदा और सक्ती क्षेत्र के जंगलों में तेंदुआ कभी कभार दिखाई देते हैं, किंतु अभी तक गांवाें में उस क्षेत्र से तेंदुआ आने की सूचना नहीं है। हरदीडीह में आया तेंदुआ बारनवापारा बलौदा बाजार के जंगलों से भटकता हुआ आने की आशंका है। उनका कहना है कि एक दिन में तेंदुआ इतनी जल्दी नहीं आ सकता भटक कर वह खेतों में छुपा रहा होगा। जिस घर में घुसा वहां पर भी खेत होने के कारण वहीं रुक गया।

X
Janjgeer News - chhattisgarh news farmer39s house leopard in hardidih was transmitted to kanan pendari
COMMENT