माॅनसून की पहली बारिश सड़कों पर भरा पानी, किसान अब करेंगे खेती की शुरुआत

Champa News - भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा लंबे इंतजार के बाद आखिरकार प्रदेश में मॉनसून आ ही गया। शुक्रवार को बस्तर में दस्तक...

Jun 23, 2019, 07:00 AM IST
Janjgeer News - chhattisgarh news first rain to be filled on the streets of manson farmers will now start farming
भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा

लंबे इंतजार के बाद आखिरकार प्रदेश में मॉनसून आ ही गया। शुक्रवार को बस्तर में दस्तक देने के बाद शु्क्रवार को पूरे प्रदेश को कवर कर लिया है। इसी वजह से शुक्रवार को सुबह से ही सूरज की रोशनी कम रही। दोपहर 4 बजे के बाद बदली छाने से शाम होने का एहसास होने लगा और राहत की बूंदें बरसी। हालांकि शहर में जल निकासी की व्यस्था नहीं होने से कई जगहों पर पानी भर गया।

पिछले चार सालों में माॅनसून इस वर्ष सबसे देरी से आया है। गत वर्ष 11 जून को ही जिले में माॅनसून ने दस्तक दी थी, उससे पहले 2017 में 9 जून, 2016 में 20 जून और 2015 में 19 जून को मॉनसून की बारिश शुरू हुई थी। इस वर्ष अधिक इंतजार करना पड़ा है। शुक्रवार को बस्तर आने के बाद 24 घंटे में मॉनसून ने पूरे प्रदेश को कवर कर लिया। इसकी वजह ओडिशा के समुद्री सतह से 5.8 किमी ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। यह पड़ोसी राज्य झारखंड व छत्तीसगढ़ के ऊपर भी है। इसी वजह से जिले में बारिश हुई। हालांकि एक दिन पहले से ही सूरज के तेवर में नरमी के कारण बारिश होने की संभावना जताई जा रही थी, शनिवार को बारिश ने लोगों की उम्मीदें पूरी कर दी। बारिश के कारण गाड़ी चलाने वालो को शाम होने से पहले ही लाइट जलाना पड़ा।

पिछले साल की तुलना में 11 दिन लेट से आया मॉनसून, अब तक कम हुई 35 मिमी वर्ष

बारिश का पानी सड़क के आसपास भरा तो बच्चे उसमें कागज की नाव चलाने लगे।

5.3 मिमी की बारिश ने दिलाई राहत

क्र. तहसील 22 की 1 जून से गत वर्ष पिछले 10 वर्ष सुबह वर्षा 22 तक औसत वर्षा

01 जांजगीर 1.0 12.0 90.4 76.9

02 चाम्पा 0.0 38.0 85.0 78.4

03 पामगढ़ 35.6 64.2 90.2 75.8

04 सक्ती 0.5 94.5 72.0 61.6

05 मालखरौदा 0.0 68.6 47.7 76.9

06 डभरा 4.0 97.0 160.6 87.1

07 नवागढ़ 9.6 87.2 131.0 97.7

08 जैजेपुर 2.2 51.2 50.2 64.3

09 अकलतरा 0.0 13.8 86.3 67.4

10 बलौदा 0.4 22.1 87.3 79.8

औसत 5.3 54.9 90.1 76.6

भारी बारिश की चेतावनी जारी

मौस्म विज्ञान केंद्र रायपुर के वैज्ञानिकों के अनुसार मॉनसून ने पूरे प्रदेश को कवर कर लिया है। साथ ही ओडिशा के समुद्र सतह पर बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण रविवार को उत्तर मध्य छत्तीसगढ़ में भारी बारिश की संभावना है। इसके अलावा अन्य क्षेत्रों में भी बारिश की चेतावनी दी गई है।

रविवार को भी बारिश के आसार


नहीं हुई है देरी, अब खेती के काम में आएगी तेजी: डीडीए


किसी भी तहसील में इस वर्ष अब तक नहीं हुई 100 मिमी बारिश

इस वर्ष बरखा रानी रूठीं हुई है। गत वर्ष जून माह के बाइस दिनों में दो तहसीलों में सौ मिमी से अधिक बारिश हुई थी। डभरा मे पिछले साल इस तिथि तक सर्वाधिक 1600 मिमी वर्षा हुई थी तो नवागढ़ में 131 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। जबकि जांजगीर, पामगढ़ और बलौदा में 90 मिमी से अधिक वर्षा हो चुकी थ्ी। इस वर्ष सक्ती और डभरा तहसील में ही 90 मिमी से अधिक वर्षा दर्ज की गई है। पिछले साल इस अवधि में 90.1 मिमी औसत वर्षा हो चुकी थी, इस वर्ष 54.9 मिमी हुई है यानि 35.2 मिमी वर्षा कम हुई है।

X
Janjgeer News - chhattisgarh news first rain to be filled on the streets of manson farmers will now start farming

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना