मंगल, राहू का अंगारक योग और शनि-केतु की युति से तपेगी धरती, स्थानीय प्रभाव का भी रहेगा असर

Champa News - भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा रोहिणी नक्षत्र में नवतपा के 9 दिन के दौरान गर्मी बढ़ने के साथ तेज हवा व आंधी चलने के भी...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:05 AM IST
Janjgeer News - chhattisgarh news mangal rahu39s angarak yoga and shani ketu will also be affected due to the impact of local influence
भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा

रोहिणी नक्षत्र में नवतपा के 9 दिन के दौरान गर्मी बढ़ने के साथ तेज हवा व आंधी चलने के भी योग बन रहे हैं। जिसमें बूंदाबांदी औैर हल्की बारिश होने के आसार हैं। पंचांग की गणना के अनुसार सूर्य का रोहिणी में प्रवेश 25 मई को रात 8.20 बजे होगा। सूर्य का रोहिणी प्रवेश 8 जून को शाम 6.20 बजे तक रहेगा। इस दृष्टि से सूर्य का रोहिणी की कक्षा में तकरीबन 15 दिन का संचरण होगा। इन 15 में प्रथम 9 दिन नवतपा के माने जाते है।

इस दौरान मान्यता यह होती है कि जब ग्रहों का दृष्टि संबंध तथा चंद्र का दैनिक संचार की गणना से अलग-अलग राशियों से संपर्क होता है, तब वातावरण में तपिश की स्थिति या पानी गिरने की स्थिति बनती है। मान्यता यह भी है कि रोहिणी में तेज गति से पानी का गिरना अच्छा माना जाता है। बारिश के लिए सिस्टम सक्रिय होगा: वैसे भी पिछले तीन साल नवतपा के दौरान बारिश हुई थी। इस बार भी मौसम विभाग ने अनुमान लगाया है कि 25 मई तक तेज गर्मी पड़ने के बाद बारिश के लिए सिस्टम सक्रिय होगा। स्थानीय प्रभाव का भी असर रहेगा। वजह यह रहेगा कि सूर्य की तपिश कम होगी। मौसम वैज्ञानिक पीएल देवांगन का कहना है कि नवतपा के दौरान बारिश होने के आसार ज्यादा है।

रोहिणी का प्रभाव पूर्वोत्तर दिशा में अच्छा रहेगा

यदि पानी की गति कम है या हल्का-सा गीलापन आता है तो रोहिणी को गलना कहा गया है। खगोलीय मान्यता से देखें तो इस पूरे 15 दिन के पक्ष काल में अर्थात् सूर्य के रोहिणी नक्षत्र के संचरण में चंद्रमा का गोचर क्रमश: कुंभ, मीन, मेष, वृषभ, मिथुन व कर्क राशियों से संचरण होगा। ऐसे में चंद्रमा का अलग-अलग ग्रहों के साथ युति संबंध भी बनेगा। युति संबंध भी आगामी वर्षा ऋतु की वृष्टि का योग बनाता है। रोहिणी का प्रभाव पूर्वोत्तर दिशा में अच्छा रहेगा।

28, 29 और 30 को हल्की बारिश के याेग

25, 26 औैर 27 मई को तपिश बढ़ेगी। इस दौरान बूंदाबांदी भी होगी। फिर तीन दिन यानी 28, 29 औैर 30 मई को उमस बढ़ने के साथ हल्की बारिश होगी। 31 मई औैर 1 व 2 जून को तेज हवा चलने औैर आंधी-तूफान के साथ बारिश के योग बन रहे है। ज्योतिषाचार्य पं. राघवेंद्र पांडेय के अनुसार मंगल-राहु का अंगारक योग औैर शनि-केतु की युति का तम सप्तक दृष्टि संबंध वातावरण में गर्मी पैदा करेगा। उमस बढ़ाएगा औैर प्राकृतिक परिवर्तन के संकेत देगा।

X
Janjgeer News - chhattisgarh news mangal rahu39s angarak yoga and shani ketu will also be affected due to the impact of local influence
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना