• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Champa
  • Janjgeer News chhattisgarh news swing in the garden scam in the name of putting light in the streets two former cmos started scrutiny

गार्डन में झूला, गलियों में लाइट लगाने के नाम पर घोटाला, दो पूर्व सीएमओ की जांच हुई शुरू

Champa News - भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा नगर पालिका नैला के पूर्व सीएमओ सौरभ शर्मा पर अपने कार्यकाल में गंभीर वित्तीय...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 02:40 AM IST
Janjgeer News - chhattisgarh news swing in the garden scam in the name of putting light in the streets two former cmos started scrutiny
भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा

नगर पालिका नैला के पूर्व सीएमओ सौरभ शर्मा पर अपने कार्यकाल में गंभीर वित्तीय अनियमितताओं का आरोप हैं। दो मामलों की जांच चल रही है, जिसमें नगर के बीडीएम और पटेल गार्डन में झूला व खेलकूद की सामग्री लगाने और नगर की गलियों में लाइट लगाने का मामला है। अाश्चर्य है कि जिस कार्यालय में फाइल बनी उसी कार्यालय में उससे संबंधित फाइल ही नहीं है।

नगर पालिका परिषद में वर्ष 2015-16 में सौरभ शर्मा को सीएमओ बनाकर भेजा गया था। उसी वर्ष नगर के दो गार्डन बिसाहू दास महंत और सरदार वल्लभ भाई पटेल उद्यान को चकाचक करने की कोशिश की गई थी। इन दोनों गार्डन में बच्चों का झूला व अन्य सामान लगवाया गया। इन दोनों गार्डन में निर्धारित बजट से अधिक खर्च किया गया। सामान सप्लायर को सीएमओ द्वारा नियम के विपरीत अधिक भुगतान भी कर दिया गया। इसके लिए न तो परिषद से अनुमति ली, न फाइल चली और न ही पीआईसी से अनुमोदन कराया गया। कितना भुगतान अधिक किया इसकी जानकारी नगर पालिका में ही नहीं है। सप्लायर को अधिक भुगतान करने का मामला ऑडिटर तक ने नहीं पकड़ा और अपने चहेते ठेकेदार को सौरभ शर्मा ने उपकृत कर दिया।

नगर पालिका से दोनों मामलों की फाइल गायब, मामले में आरोपियों की पेशी होगी 20 फरवरी को

बीडीएम गार्डन में अभी भी टूटे हुए झूले में झूलते हैं बच्चे।

बिजली सामान की खरीदी में 80 लाख का लफड़ा

शासन स्तर से हो रही जांच

दोनों मामलों में की गई आर्थिक अनियमितता की जांच शासन स्तर से हो रही है। इस मामले में किसी ने कोई शिकायत नहीं की है, लेकिन सूत्रों के अनुसार गंभीर आर्थिक अनियमितता पाए जाने पर विभागीय अधिकारियों ने स्वयं संज्ञान लेकर जांच शुरू की है।

सीएमओ सौरभ के कार्यकाल में बिजली खरीदी पर बहुत बवाल हुआ था। सौरभ पर पार्षदों ने भी आरोप लगाए थे कि नियम विरूद्ध खरीदी की जा रही है, किंतु उन्होंने अपने मन से ही पूरा काम किया। सूत्रों के अनुसार तब करीब 80 लाख रुपए की बिजली सामान की खरीदी की गई थी। इस मामले में भी अधिक भुगतान किया गया है।

शिकायत पर जांच की जा रही है


प्रवीण भी फंसे इसी मामले में

सौरभ शर्मा के छुट्टी में जाने पर कुछ दिनों के लिए चांपा के सीएमओ प्रवीण गहलौत को जांजगीर-नैला नगरपालिका की अतिरिक्त जिम्मेदारी दी गई थी। श्री गहलौत ने भी पूर्व सीएओ शर्मा की चलाई फाइल को ही आगे बढ़ा दिया इसलिए वे भी इस मामले में फंस गए है। दोनों सीएमओ की विभागीय जांच शुरू हो गई है।

जहां फाइल चली और भुगतान हुआ उस निकाय में फाइल ही नहीं

गार्डन में झूला व अन्य सामग्री तथा गलियों में बिजली लगाने के लिए वर्ष 2015-16 में नगर पालिका में फाइल चली। उस पर संबंधित शाखा के बाबू के बाद इंजीनियर ने हस्ताक्षर किया। इसके बाद अधिकारियों का अनुमोदन होता रहा है। उसी फाइल के आधार पर सप्लायर को भुगतान किया गया, लेकिन आश्चर्य है कि वह महत्वपूर्ण फाइल ही नगर पालिका से गायब हो गई है, इसलिए यह पता ही नहीं चल पा रहा है कि किस फर्म को कितने का भुगतान किया गया और कितनी अनियमितता की गई है।

X
Janjgeer News - chhattisgarh news swing in the garden scam in the name of putting light in the streets two former cmos started scrutiny
COMMENT