--Advertisement--

पब्लिक टॉयलेट बदहाल, ओडीएफ प्लस की दौड़ में पिछड़ा जांजगीर

Champa News - भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा जांजगीर-नैला नगरपालिका को ओडीएफ का दर्जा मिला हुआ है। इस बार अफसरों ने ओडीएफ प्लस...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 02:31 AM IST
Janjgeer News - public toilets badhal odf plus race behind janjgir
भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा

जांजगीर-नैला नगरपालिका को ओडीएफ का दर्जा मिला हुआ है। इस बार अफसरों ने ओडीएफ प्लस के लिए दावा किया है मगर इसकी तैयारी करा पाने में असफल दिख रहे हैं। बेहतर अंक पाने के लिए सबसे बड़ी बाधा खुले में शौच पर रोक लगा पाना है। शहर के पब्लिक टायलेट की स्थिति बदहाल है और दिल्ली से आने वाली टीम पब्लिक टायलेट में जाकर वहां की हकीकत भी देखेगी।

स्वच्छता ही हकीकत जांचने दिल्ली की किसी भी दिन यहां पहुंच सकती है, क्योंकि जिले में टीम आ चुकी है। अब तैयारी जांचने के लिए टीम जांजगीर-नैला नगरपालिका किसी भी दिन पहुंच सकती है। मगर नगर के सार्वजनिक शौचालयों की स्थिति ऐसी है कि लोग मजबूरी में उपयोग करते हैं। यूरिनल कमरा बना है पर सेट्रिंग सामान ही नहीं लगा है। ऐसे में स्टार रेटिंग में नगरपालिका जांजगीर-नैला को कितने अंक मिलेंगे, आसानी से जाना जा सकता है। नपा इन्हीं बदबूदार तैयारियों से दावा करती है कि उसे रेटिंग में बेहतर अंक मिलेंगे। भास्कर ने शहर के सार्वजनिक टॉयलेट की स्थिति देखी तो यह हकीकत नजर आई।

कभी भी आ सकती है दिल्ली से जांच टीम

वार्ड क्र. 21 का शौचालय जिसे बाहर से तो करा दिया चकाचक मगर अंदर से बदहाल है

सब्जी मार्केट : सेप्टिक टैंक फूटा बदबू के कारण खड़ा होना दूभर

शहर के सब्जी मार्केट में सुलभ शौचालय है। परिसर के अंदर ही खुले में सेप्टिक टैंक का एक हिस्सा टूटा पड़ा है। वहां से बदबू के चलते खड़ा हो पाना मुश्किल है। सुलभ से लगकर ही सब्जी मार्केट है जिसके कारण दिनभर मजबूरी में लोग इस्तेमाल करते हैं।

बस स्टैंड : टूटा दरवाजा रखा हुआ है महिला टॉयलेट में कबाड़ भरा है

बस स्टैंड में सुलभ शौचालय को बाहर से रंगाई-पुताई कर चकाचक कर दिया है मगर अंदर स्थिति दूसरी है। पुरुष टॉयलेट का दरवाजा टूटा तो अंदर ही डाल दिया। महिला टॉयलेट में तो झाडू, बोरी और टूटा-फूटा सामान भरा मिला। यह इस्तेमाल के लायक नहीं है।

सीधी बात

एससी शर्मा, सीएमओ नगरपालिका जांजगीर-नैला

जो कमियां हैं उसे दूर कर लेंगे

शहर के सार्वजनिक टॉयलेट की स्थिति बदहाल है?

सभी में सुविधाएं बढ़ा रहे हैं, अभी सेनेटरी पैड मशीन और डिस्ट्रायॅड मशीनें भी लगाई गई है।

अभी भी तो कहीं दरवाजे टूटे पड़े हैं तो सैप्टिक टैंक टूटा पड़ा है, वहां बदबू से लोग इस्तेमाल नहीं कर रहे?

सैप्टिक टैंक को ढका जाएगा, जहां भी कमी है उसे दूर कर रहे हैं।

जिले में जांच करने टीम आ चुकी है, ऐसी व्यवस्था देखकर क्या ओडीएफ प्लस का दर्जा मिलेगा?

हां, टीम इसी महीने आने वाली है, हम पूरा प्रयास कर रहे हैं, कमी दूर कर लेंगे।

कचहरी चौक : महिला टॉयलेट बना है लेकिन लोगों को पता तक नहीं

कचहरी चौक में दो महिला टॉयलेट और एक यूरिनल बनवाया गया है। दिनभर बसें रुकती है और महिलाओं की भीड़ रहती है मगर उन्हें नि:शुल्क टॉयलेट सुविधा की जानकारी नहीं होती। क्योंकि उसके सामने दुकानें लगा दी जाती है। जिससे यह अनुपयोगी है।

Janjgeer News - public toilets badhal odf plus race behind janjgir
Janjgeer News - public toilets badhal odf plus race behind janjgir
Janjgeer News - public toilets badhal odf plus race behind janjgir
X
Janjgeer News - public toilets badhal odf plus race behind janjgir
Janjgeer News - public toilets badhal odf plus race behind janjgir
Janjgeer News - public toilets badhal odf plus race behind janjgir
Janjgeer News - public toilets badhal odf plus race behind janjgir
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..