• Home
  • Chhattisgarh News
  • Chirmiri News
  • भारतीय संस्कृति में श्रम को हमेशा ऊंचा स्थान दिया गया है:रामअवतार
--Advertisement--

भारतीय संस्कृति में श्रम को हमेशा ऊंचा स्थान दिया गया है:रामअवतार

भारतीय संस्कृति में श्रम को हमेशा ऊंचा स्थान दिया गया है। श्रम हमारी सामाजिक व्यवस्था को चलाए रखने में सबसे अहम...

Danik Bhaskar | May 03, 2018, 02:30 AM IST
भारतीय संस्कृति में श्रम को हमेशा ऊंचा स्थान दिया गया है। श्रम हमारी सामाजिक व्यवस्था को चलाए रखने में सबसे अहम है। विकसित अथवा विकास शील राष्ट्र में मजदूरों के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। कोई भी उद्योग अथवा संस्थान की कल्पना मजदूरों के बीना संभव नहीं है। यह बात राष्ट्रीय कोयला कामगार संघ (इंटक) चिरमिरी की तरफ से अंर्तराष्ट्रीय मजदूर दिवस के अवसर पर मजदूरों के दिए गए बलिदान को याद करते हुए राष्ट्रीय कोयला कामगार संघ के पदाधिकारी राम अवतार अलगमकर ने कही। इस अवसर पर संगठन के पीके राय प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम में सेवानिवृत्त कर्मचारियों को पुष्प गुच्छ एवं साल व श्रीफल से सम्मानित किया गया। पीके राय ने कहा कि मेहनत कसों को सम्मानित करते हुए गर्व होता है। क्षेत्र में संगठन के पदाधिकारी मजदूरों की एकता बनाए रखने के बधाई दी। कार्यक्रम में राजकुमार दूबे, वरुण शर्मा, ओपी प्रीतम, मोहनलाल प्रजापति, गुलाम हबीब गुड्डू, अशोक बनर्जी, मीन बहादुर, राम प्रेम शर्मा, पुरुषोत्तम गुप्ता सहित अन्य कर्मचारियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर राजेंद्र चापेकर, मनोज जैन, डाॅ. विनय जायसवाल, सुभाष कश्यप, अशोक जैना, नसीम अख्तर, शोएब अख्तर, बलदेव दास, ओमप्रकाश, राकेश श्रीवास्तव, संतोष , रीचड स्टीफन, सत्यप्रकाश तिवारी, वेंकट राव समेत अन्य उपस्थित रहे।