Hindi News »Chhatisgarh »Dallirajhara» बस मालिक को नोटिस, 60 सवारियों की जान जोखिम में डालने वाला फरार

बस मालिक को नोटिस, 60 सवारियों की जान जोखिम में डालने वाला फरार

भास्कर न्यूज | बालोद/दल्लीराजहरा दल्लीराजहरा नगर से चार किलोमीटर दूर अरमुरकसा में मंगलवार को लापरवाहीपूर्वक...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:25 AM IST

भास्कर न्यूज | बालोद/दल्लीराजहरा

दल्लीराजहरा नगर से चार किलोमीटर दूर अरमुरकसा में मंगलवार को लापरवाहीपूर्वक बस चलाकर 60 से अधिक यात्रियों की जान जोखिम में डालने वाले बस ड्राइवर अब तक फरार है। पुलिस ने बस के मालिक को नोटिस जारी किया है। टीआई मनीष सिंह परिहार का कहना है कि मामला ज्यादा गंभीर नहीं है, सिर्फ ड्राइवर ने लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाया है।

ड्राइवर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है, जल्द उन्हें पकड़ लेंगे। पिछले 30 दिन में सड़क हादसे में 16 लोगों की मौत हो चुकी है। डेढ़ साल में 18 बार बड़े वाहन पलटने की घटना हो चुकी है।

जिले में मालवाहक से हो चुकी हैं बड़ी दुर्घटनाएं

केस 1. 16 अप्रैल 2016 को डौंडीलोहारा ब्लाॅक के खोलझर चौक के पास अरजपुरी से बेलमांड जा रही पिकअप वैन पलट गई। इस घटना में एक की मौत हो गई। वहीं 48 लोग घायल हो गए।

यात्रियों को ठूंस-ठूंस कर भरते हैं बसों व मालवाहकों में

अमूमन यह नजारा देखने को मिलता है कि यात्रियों को ठूंस-ठूंस कर यात्रियों को वाहनों में भर दिया जाता है। चाहे वह बस हो या मालवाहक। वैसे तो मालवाहक में सिर्फ विभिन्न सामग्रियों को ढोने की छूट दी जाती है, लेकिन इन वाहनों का उपयोग लोग यात्री बस या कार की भांति करने लगे हैं। इससे हमेशा दुर्घटना की आशंका रहती है। यातायात पुलिस लगातार कार्रवाई के दावे कर रही है। लेकिन ऐसी घटना अब तक हो रही है।

केस 2. 29 अप्रैल 2015 को ग्राम कोटा से लौट रहे 60 लोगों से भरा मालवाहक माजदा अरमुरकसा के पास ट्रेलर से टकराने से 13 लोगों की मौत व 35 लोग घायल हुए थे।

केस 3. मार्च 2014 में पाररास रेल्वे क्रासिंग के पास ट्रेन हादसा भी मालवाहक के कारण हुआ था। छोटा हाथी (एसी वैन) जो सब्जी सवारी से भरी थी। ट्रेन की चपेट में गई। चार लोगों की मौत हुई थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dallirajhara

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×