--Advertisement--

घरेलू, कामकाजी और सब्जी बेचने वाली महिलाओं को कोर्ट ने बताया अधिकार

बालोद. दल्ली के रैन बसेरा में श्रमिक दिवस पर महिलाओं को अधिकार बताया गया। भास्कर न्यूज | दल्लीराजहरा/बालोद ...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:30 AM IST
घरेलू, कामकाजी और सब्जी बेचने वाली महिलाओं को कोर्ट ने बताया अधिकार
बालोद. दल्ली के रैन बसेरा में श्रमिक दिवस पर महिलाओं को अधिकार बताया गया।

भास्कर न्यूज | दल्लीराजहरा/बालोद

मंगलवार को श्रमिक दिवस पर दल्लीराजहरा के रैन बसेरा में विधिक सेवा प्राधिकरण ने जागरूकता शिविर लगाया। जिसमें घरेलू कामकाजी, सब्जी बेचने वाली, कचरा उठाने वाली महिलाओं को उनके अधिकारों से अवगत कराया गया।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव मनीषा ठाकुर ने महिलाओं को कहा कि आप पुरुषों से कम नहीं है। हर क्षेत्र में अपनी जिम्मेदारी संभालना सीख जाइए। चारदीवारी से बाहर निकलिए और अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहिए। जो काम पुरुष कर सकते हैं वह काम महिलाएं भी कर सकती है। किसी भी तरह के अधिकारों के हनन होने पर आप कोर्ट की मदद ले सकते हैं। शासन की योजनाओं का लाभ लेने के लिए श्रम विभाग में पंजीयन करवाइए। कोर्ट के जरिए एक महीने में 1000 से ज्यादा लोगों का पंजीयन कराया जा चुका है। महिला स्व सहायता समूह से जुड़कर आर्थिक उन्नति का रास्ता अपनाने की सलाह दी। जज जसविंदर कौर ने श्रमिक के रूप में पंजीयन करवाने की प्रक्रिया को समझाया। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की घरेलू हिंसा से पीड़ित महिलाओं को पुनर्वास के लिए बालोद में यह केंद्र खोला गया है। जिसकी मदद से महिलाओं को न्याय दिलाया जाता है। इस दौरान अधिवक्ता अनीता, पंकज राजपूत, चित्रांगद देशमुख, खुर्शीद सिद्दकी सहित अन्य लोग मौजूद थे।

X
घरेलू, कामकाजी और सब्जी बेचने वाली महिलाओं को कोर्ट ने बताया अधिकार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..