Hindi News »Chhatisgarh »Dallirajhara» खनन प्रभावित क्षेत्र के 5 किमी में योजना बना राॅयल्टी से विकास कार्य कराए जाएं

खनन प्रभावित क्षेत्र के 5 किमी में योजना बना राॅयल्टी से विकास कार्य कराए जाएं

नगर के विभिन्न समस्याओं के निराकरण व विकास कार्यों को जल्द शुरू कराने की मांग को लेकर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 14, 2018, 02:30 AM IST

खनन प्रभावित क्षेत्र के 5 किमी में योजना बना राॅयल्टी से विकास कार्य कराए जाएं
नगर के विभिन्न समस्याओं के निराकरण व विकास कार्यों को जल्द शुरू कराने की मांग को लेकर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के नेतृत्व में शुक्रवार सुबह 11 बजे जैन भवन चौक में कार्यक्रम आयोजित किया।

ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष संगीता शीबू नायर ने कहा कि शासन के नियमानुसार खनन से प्रभावित क्षेत्र के 5 किलोमीटर दायरे में आने वाले ग्रामों एवं ग्राम पंचायतों को प्राथमिकता से लेते हुए कार्य योजना बनाकर खनिज राॅयल्टी राशि से विकास कार्य को कराया जाना है। लेकिन लौह अयस्क खनन में सबसे ज्यादा प्रभावित दल्लीराजहरा नगर व आसपास के ग्राम पंचायतों में विकास कार्यों को प्राथमिकता नहीं दी जा रही है। नगर की समस्याओं व विकास कार्यों को लेकर कांग्रेसियों ने कलेक्टर के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा।

बालोद जिले के सबसे बड़े शहर जिसकी आबादी 45 हजार के करीब है। यह विकास के क्षेत्र में लगातार पिछड़ता ही जा रहा है। एक समय नगर की आबादी 1 लाख 15 हजार के करीब थी।

उन्होंने कहा कि इससे यह साबित होता है कि शासन-प्रशासन व प्रदेश सरकार द्वारा सदैव ही नगर के साथ पक्षपात किया जाता रहा है। उन्होंने राॅयल्टी मद से प्राप्त राशि का 70 प्रतिशत रकम नगर के विकास के लिए खर्च करने की बात कही। इस दौरान तहसीलदार सोनित मेरिया, संतोष पांडेय, पार्षद के ईश्वर राव, रामजतन भारद्वाज, सरिता पटेल, संजय मेश्राम, रूखमणी किशोर, विजय लक्ष्मी, प्रदीप बाघ, पूर्व पार्षद प्रमोद तिवारी, लक्ष्मी सिन्हा, दिनेश यादव, सुमीत शाह, अजय साहू, सौरभ देवांगन उपस्थित थे।

दल्लीराजहरा. छह सूत्रीय मांगा का ज्ञापन सौंपते कांग्रेसी।

130 एकड़ जमीन को राजस्व को हस्तांतरित करें

नपा अध्यक्ष कांशीराम निषाद ने कहा कि लंबे अरसे से 270.26 एकड़ जमीन पर बसे लोगों को आवासीय जमीन का स्थाई पट्टा देने मुख्यमंत्री ने घोषणा किया है। इसके अलावा बीएसपी प्रबंधन से बीएसपी की शेष 130 एकड़ जमीन को भी राजस्व को हस्तांतरित करने की मांग की जा रही है । ब्लॉक कांग्रेस कमेटी जिला उपाध्यक्ष शीबू नायर ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान विकास यात्रा में आए मुख्यमंत्री के द्वारा नगर में सौ बिस्तर अस्पताल बनाने की बात कही गई थी। लेकिन 5 वर्ष बीत जाने के बाद भी नगर बहुप्रतिक्षित मांग की शुरूआत भी नहीं हो पाई है। नगर में 3 साल पूर्व केन्द्रीय विद्यालय बनाने की घोषणा की गई थी। जो अभी तक शुरू नहीं हुआ है। नपा उपाध्यक्ष रूखसाना बेगम ने कहा कि जल आवर्धन योजना का भूमि पूजन किए एक वर्ष बीत चुका है जिसके निर्माण कार्य में तेजी लाकर नगर के लोगों को शुद्ध पानी देने की मांग की गई। आज भी नगर की लगभग 80 प्रतिशत लोग आयरनयुक्त पानी पीने के लिए मजबूर हैं।

बीएसपी क्षेत्र की सड़कों की मरम्मत कराई जाए

युवा नेता प्रशांत बोकड़े, स्वप्निल तिवारी ने कहा कि नगर के शासकीय कालेज में बीएएडी व एलएलबी शुरू करना चाहिए। बीएसपी क्षेत्र के अंतर्गत सड़कों की मरम्मत करने की मांग की। दोपहर 1 बजे ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष संगीता शीबू नायर के नेतृत्व में नगर विकास एवं समस्या से जुड़े 6 सूत्रीय मांगों के संबंध में कलेक्टर के नाम एसडीएम जीएल यादव को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान उन्होंने कहा कि नगर के पहाड़ों से लौह अयस्क के खनन से प्रतिवर्ष 84 करोड़ की राशि रायल्टी के रूप में जिले के खनिज न्यास निधि में जाता है। लेकिन फिर भी इसका उपयोग नगर के विकास में ठीक रूप से नहीं किया जा रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dallirajhara

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×