--Advertisement--

सहकारिता से अात्मनिर्भर बनीं महिलाएं हुईं सम्मानित

सहकारिता के माध्यम से स्वरोजगार अपना कर स्वावलंबन की दिशा में कदम बढ़ाने वाली राजहरा महिला बुनकर सहकारी समिति की...

Dainik Bhaskar

Aug 07, 2018, 02:30 AM IST
सहकारिता से अात्मनिर्भर बनीं महिलाएं हुईं सम्मानित
सहकारिता के माध्यम से स्वरोजगार अपना कर स्वावलंबन की दिशा में कदम बढ़ाने वाली राजहरा महिला बुनकर सहकारी समिति की महिलाओं का सम्मान छग राज्य सहकारी संघ ने किया। राज्य सहकारी संघ के रायपुर कार्यालय सभागार में राजहरा महिला बुनकर सहकारी समिति अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, प्रबंधक व मास्टर ट्रेनर के साथ-साथ इन महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए जिला सहकारी संघ को भी सम्मानित किया गया।

समिति की महिलाओं का उत्साह बढ़ा है और उन्होंने और अधिक लगन से कार्य करने व अन्य महिलाओं को भी इससे जोड़ कर लाभ पंहुचाने का संकल्प लिया है। महिलाओं ने छग राज्य हाथकरघा विकास एवं विपणन सहकारी समिति के गोदाम में पहुंच कर संघ द्वारा धागा देने की प्रक्रिया, कपड़ा प्राप्ति की प्रक्रिया, स्कूल ड्रेस व अन्य उत्पादित कपड़ों के रखरखाव व पूरी प्रक्रिया का अवलोकन भनपुरी गोदाम जाकर किया। जिला सहकारी संघ के मार्गदर्शन में राजहरा के मजदूर क्षेत्र की महिलाओं को सहकारिता से जुड़ कर कार्य करने के फायदे, स्वरोजगार अपनाने, हाथकरघा के माध्यम से स्वावलंबन, मशरूम उत्पादन से आर्थिक उन्नयन, पशु पालन विभाग की योजनाओं के बारे में बताया गया।

प्रोत्साहन

राजहरा बुनकर सहकारी समिति की महिलाओं का उत्साह बढ़ा, अब दूसरों को भी स्वरोजगार अपनाने करेंगी प्रेरित

दल्लीराजहरा. बुनकर समिति की महिलाओं का सम्मान किया गया।

इनका हुआ सम्मान

राज्य सहकारी संघ रायपुर के अध्यक्ष लखनलाल साहू ने राजहरा महिला बुनकर सहकारी समिति की अध्यक्ष प्रिया निर्मलकर, उपाध्यक्ष रीनेश्वरी साहू, जिला सहकारी संघ प्रतिनिधि निर्मला यादव, प्रबंधक कीर्ति साहू, वरिष्ठ प्रशिक्षक व्यास नारायण देवांगन का शाल व श्रीफल से सम्मान किया। संचालन राजेश साहू ने किया। राज्य सहकारी संघ के मुख्य कार्यपालन अधिकारी व्हीके शुक्ला, टीएस साहू, वीरेन्द्र साहू उपस्थित थे।

रोजगार का साधन बनाया: राज्य सहकारी संघ के अध्यक्ष लखनलाल साहू ने कहा कि जिस प्रकार इन महिलाओं ने संगठित होकर समय में कई महिलाओं ने रोजगार का साधन बनाया है, यह अन्य महिलाआें के लिए अनुकरणीय है। बालोद जिला सहकारी संघ कार्य कर रहा है वैसा ही सभी जिला सहकारी संघ कार्य करें तो पीएम के किसानों की आय दोगुनी करने का सपना पूरा हो जाएगा।

हर कदम पर सफल

बालोद जिला सहकारी संघ अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता ने कहा कि राजहरा महिला बुनकर सहकारी समिति दल्लीराजहरा ने कम समय में सफलता पाई है। पहली ही बार में 1700 मीटर कपड़े का उत्पादन किया। अब यह उत्पादन छग राज्य हाथकरघा विकास एवं विपणन सहकारी संघ रायपुर के गोदाम पहुंच गया है। जिसका बिल भी बनाया जा चुका है। इससे महिलाओं का उत्साह दोगुना हो गया है। जल्द ही कपड़ा बुनाई का भुगतान मिलेगा।

X
सहकारिता से अात्मनिर्भर बनीं महिलाएं हुईं सम्मानित
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..