• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Dhamtari
  • चंद्रग्रहण के कारण 13 घंटे बंद रहे मंदिरों के पट, रात 9 बजे खोले गए
--Advertisement--

चंद्रग्रहण के कारण 13 घंटे बंद रहे मंदिरों के पट, रात 9 बजे खोले गए

Dhamtari News - माघ पूर्णिमा के अवसर पर जिले के 5 स्थान रूद्रेश्वर घाट रुद्री, कर्णेश्वर धाम सिहावा, डोंगापथरा देवपुर, कोदोरास...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:30 AM IST
चंद्रग्रहण के कारण 13 घंटे बंद रहे मंदिरों के पट, रात 9 बजे खोले गए
माघ पूर्णिमा के अवसर पर जिले के 5 स्थान रूद्रेश्वर घाट रुद्री, कर्णेश्वर धाम सिहावा, डोंगापथरा देवपुर, कोदोरास सिलौटी और राजिम के लोमष ऋषि आश्रम त्रिवेणी संगम में मेला लगा। यहां आस्था की डुबकी लगाकर श्रद्धालु सुबह 4 बजे से भोलेनाथ के दर्शन करने मंदिरों के बाहर कतार लगाकर खड़े हो गए थे।

यह सब इसलिए हुआ, क्योंकि माघ पूर्णिमा के दिन सवा 3 घंटे के लिए चंद्रग्रहण था, जिसका सूतक सुबह 8.17 बजे से लग गया। ऐसे में मंदिरों के पट सूतक लगने के 15 मिनट पहले ही बंद हो गए, जिससे कतार में लगे कई श्रद्धालुओं को भोलेनाथ के दर्शन-पूजन किए बगैर निराश लौटना पड़ा। सूतक और चंद्रग्रहण के कारण मंदिरों के पट 13 घंटे के लिए बंद रहे, जो ग्रहण समाप्ति के बाद रात 9 बजे खुले। रुद्रेश्वर घाट में इस साल 10 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने अल सुबह से रात तक पुण्य स्नान किया। शहर के अलावा आसपास के गांवों के श्रद्धालु भी परिवार के साथ स्नान करने रुद्रेश्वर घाट पहुंचे थे। सिहावा के कर्णेश्वर धाम, देवपुर के डोंगेश्वर मंदिर, कोदोरास के शिवालय के पट 8 बजे बंद हो गए। परिवार के साथ लोग मेला घूमने जरुर आए, पर भगवान के दर्शन किए बगैर ही उन्हें लौटना पड़ा। कई श्रद्धालु गुरुवार को जल चढ़ाने मंदिर पहुंचेंगे।

रूद्री मेला में मनिहारी, होटल, खिलौना, कपड़ा दुकानों के साथ सब्जी आदि की दुकानें सजी थीं। रहचुली और चक्कर झूले का बच्चे-बड़े सभी ने आनंद उठाया। मेला स्थल में परंपरा की झलक भी दिखी। कई गांवों से लोग बैलगाड़ी से मेला देखने पहुंचे। एक बैलगाड़ी में 10 से 12 लोग सवार थे। रुद्री मेले में मुड़पार, कोलियारी, करेठा, बेंद्रानवागांव, भटगांव, सोरम, अछोटा, भोयना, शंकरदाह, डोड़की, हरफ्तराई समेत आसपास के अन्य गांवों के लोग भी बड़ी संख्या में पहुंचे थे। दिनभर के मेले में छिटपुट विवाद को छोड़ कोई बड़ी घटना या अपराध जैसी खबर नहीं है। कलेक्टर डॉ. सीआर प्रसन्ना और एसपी रजनेश सिंह मेला स्थलों की खबर दिनभर लेते रहे।

पुण्य स्नान करने रूद्रेश्वर घाट पर जुटे 10 हजार से अधिक श्रद्धालु

धमतरी. रुद्रेश्वर महादेव घाट में पुण्य स्नान करने के लिए सुबह 4 बजे से श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ गई थी।

X
चंद्रग्रहण के कारण 13 घंटे बंद रहे मंदिरों के पट, रात 9 बजे खोले गए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..