Hindi News »Chhatisgarh »Dhamtari» कैमरे में कैद, ई-चालान से वसूले 4 लाख

कैमरे में कैद, ई-चालान से वसूले 4 लाख

शहर के 5 स्थानों पर सिग्नल लाइट लगे हैं। अक्सर ट्रैफिक पुलिस की नजर से बचकर लोग नियम तोड़ रहे। लोग पुलिस की नजरों से...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:30 AM IST

कैमरे में कैद, ई-चालान से वसूले 4 लाख
शहर के 5 स्थानों पर सिग्नल लाइट लगे हैं। अक्सर ट्रैफिक पुलिस की नजर से बचकर लोग नियम तोड़ रहे। लोग पुलिस की नजरों से तो बच रहे, लेकिन कैमरे में कैद हो रहे। ऐसे लोगों को यातायात पुलिस वीडियो फुटेज देखकर ई-चालान भेज रहा है। सिग्नल लाईट लगे स्थानों के अलावा रॉन्ग साइड पर चलने वाले वाहन चालकों को भी पुलिस चालान भेज रहा है। ई-चालान के लिए यातायात पुलिस ने 8 स्थानों पर 12 वीडियो कैमरा लगाया है। यातायात पुलिस ने इन वीडियो की मदद से अब तक 1 हजार 872 लोगों को ई-चालान भेजकर 4 लाख रुपए का समन शुल्क वसूला है।

यातायात प्रभारी पुष्पेन्द्र सिंह ने कहा कि शहर को दो जोन में बांटने के बाद चौराहों पर यातायात नियमों के पालन कराने पर जोर दिया जा रहा है।

आमतौर पर लोग जागरूक होने के बाद भी चौराहों पर दूसरे वाहन चालकों को देखकर यातायात नियमों की अनदेखी करते हैं। चौराहों पर रेड सिग्नल होने पर भी वाहन जेब्रा लाईन क्राॅस करते हुए आगे बढ़ जाते हैं। इससे पैदल चलने वालों को जेब्रा क्रॉसिंग के बजाए अन्य स्थानों पर खड़ा होना पड़ता है। रेड सिग्नल जंप करने से दुर्घटनाओं की संभावना बनी रहती है, ऐसे लोगों को सबक सिखाने पुलिस वीडियो ग्राफी के अाधार पर कार्रवाई कर रही है।

इस तरह हाे रही कार्रवाई : पुलिस फोटो और वीडियो के आधार पर वाहनों के रजिस्ट्रेशन नंबर की डिटेल परिवहन विभाग की साइड से लेती है। फिर वाहन मालिक का नाम, पता मिलने पर डाक के माध्यम से चालान भेजा जाता है। घर तक चालान पहुंचने के बाद संबंधित व्यक्ति ट्रैफिक चौकी आकर जुर्माना पटाते हैं। यदि जुर्माना नहीं पटाते, तो पुलिस प्रकरण कोर्ट में पेश करती है, जहां से वाहन मालिक को वारंट जारी की जाती है।

चौकी में बैठ नियम तोड़ने वालों का वीडियो फुटेज देख बना रहे ई-चालान।

सीसी कैमरे के ये फायदे

ई-चालान से चालानी कार्रवाई शुरू होने के बाद चौक-चौराहों में होने वाले हादसों में कमी आई है।

यातायात के पास स्टाफ की 50 प्रतिशत कमी है। वीडियोग्राफी सिस्टम से कुछ हद तक कमी दूर करने में मदद मिल रही है।

लोग ट्रैफिक नियमों को लेकर जागरूक होने लगे हैं। नियम तोड़ने से पहले कई बार सोच रहे।

यही नहीं चौक-चौराहों में वीडियोग्राफी होने से ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के अलावा आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने वाले भी ट्रेस हो रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhamtari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×