Hindi News »Chhatisgarh »Dhamtari» नई नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू, कार्यकर्ता व सहायिकाओं ने कहा- आत्मदाह कर लेंगे

नई नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू, कार्यकर्ता व सहायिकाओं ने कहा- आत्मदाह कर लेंगे

28 दिनों से हड़ताल पर डटी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं ने रविवार को छुट्टी के दिन सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:30 AM IST

नई नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू, कार्यकर्ता व सहायिकाओं ने कहा- आत्मदाह कर लेंगे
28 दिनों से हड़ताल पर डटी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं ने रविवार को छुट्टी के दिन सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। हनुमान जयंती के एक दिन बाद उन्होंने हनुमान चालीसा का पाठ कर सरकार को सदबुद्धि देने प्रार्थना की। जिला महिला बाल विकास विभाग ने आंदोलन को कूच करने 326 वर्करों को बर्खास्त कर दिया है।

नई नियुक्ति की तैयारी भी शुरू हो गई है। इससे कार्यकर्ता, सहायिकाओं में दहशत के साथ आक्रोश भी देखा जा रहा है। इधर नई नियुक्ति होने पर आंदोलनरत महिलाओं ने आत्मदाह करने की चेतावनी दे रहे हैं। जिलाध्यक्ष रेवती वत्सल ने कहा कि शासन-प्रशासन उनकी जायज मांगों को पूरा करने के बजाए प्रताड़ित कर रहा है। किसी भी आंगनबाड़ी केन्द्र में बर्खास्त हुए कार्यकर्ता, सहायिकाओं के पद में नई नियुक्ति की जाती है, तो आत्मदाह कर लेंगे। इसकी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी।

रविवार को हनुमान चालीसा का पाठ कर सरकार को सदबुद्धि देने प्रार्थना की।

सभी विपक्षी दल दें चुके हैं समर्थन

पिछले 28 दिनों से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता-सहायिका अपना मानदेय बढ़ाने समेत 6 सूत्रीय मांगों को लेकर लोक तांत्रिक ढंग से आंदोलन कर रही है। कांग्रेस, बसपा, जोगी कांग्रेस, माकपा, पिछड़ा वर्ग समाज पार्टी समेत विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के अलावा शासकीय कर्मचारी संगठन ने भी इनकी मांगों का समर्थन किया है। शासन-प्रशासन के लगातार दबाव से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं पर मानसिक तनाव भी काफी बढ़ गया है। अब तक नौकरी की डर से 11 आंबा कार्यकर्ता-सहायिका बेहोश हो चुकी है, जिसे जिला अस्पताल में उपचार के बाद छुट्टी दी गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhamtari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×