Hindi News »Chhatisgarh »Dhamtari» बिना काम धंधे के ऐशो आराम की जिंदगी जी रहा था आरोपी, इसलिए पुलिस को हुआ शक

बिना काम धंधे के ऐशो आराम की जिंदगी जी रहा था आरोपी, इसलिए पुलिस को हुआ शक

धमतरी पुलिस ने ग्राम खपरी में 16 अगस्त 2016 को हुए दोहरे हत्याकांड और ग्राम तेलीनसत्ती में 12 जुलाई 2017 को हुए तिहरे हत्या...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:35 AM IST

धमतरी पुलिस ने ग्राम खपरी में 16 अगस्त 2016 को हुए दोहरे हत्याकांड और ग्राम तेलीनसत्ती में 12 जुलाई 2017 को हुए तिहरे हत्या कांड का खुलासा बुधवार को रायपुर में कर दिया । दोनों चर्चित वारदात से लोग सकते में आ गए थे।

पुलिस के लिए भी ये मामले चुनौती बने हुए थे। दोनों मामलों में तेलीन सत्ती निवासी युवक जितेंद्र ध्रुव को आरोपी बताया गया। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस के अनुसार उसने अपना अपराध कबूल कर लिया है। आरोपी को साइको किलर भी बताया जा रहा है।

मामले का खुलासा आईजी प्रदीप गुप्ता ने किया। धमतरी एसपी और उनकी टीम भी मौजूद थी। आरोपी बिना काम धंधे के गांव में ऐशो आराम की जिंदगी जी रहा था। गांव के युवकों ने पुलिस को इस आशय की सूचना दी। पुलिस ने शक के आधार पर उससे पूछताछ की तो कड़ियां खुलती गईं और दोनों हत्याकांड का खुलासा हो गया।

दो वारदातों में 5 का किया था कत्ल, तेलीनसत्ती का युवक निकला आरोपी

आरोपी को पकड़ने डेढ़ लाख मोबाइल नंबर खंगाले जांच दल ने

धमतरी। रायपुर रेंज के आईजी प्रदीप गुप्ता ने बुधवार को प्रेसवार्ता लेकर जिले के दो बड़े हत्याकांड का खुलासा किया।

चश्मदीद मासूम को बचाने नानी ने लगा रखे थे कैमरे

तेलीनसत्ती हत्याकांड में पीड़ित परिजन इतने दहशत में थे कि मृत दंपती उषा सिन्हा और महेंद्र सिन्हा के मासूम बेटे त्रिलोक को वारदात के बाद से ननिहाल में छुपाकर रखा था क्योंकि वह इस मामले का चश्मदीद था। परिवार को डर था कि कहीं हत्यारे उसकी भी हत्या न कर दें। त्रिलोक ननिहाल में ही कक्षा 7वीं का छात्र है। हत्यारे के ही डर से त्रिलोक के ननिहाल में कोने-कोने में सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। यह उसकी नानी ने अपने खर्च से लगवाएं हैं। वह बच्चे को अकेले कहीं भी नहीं जाने देती। स्कूल से लाने ले जाने के लिए भी अलग से एक व्यक्ति लगाया गया है।

धमतरी में रहता था भाड़े के मकान में

खपरी-तेलीनसत्ती हत्याकांड का आरोपी जितेन्द्र ध्रुव मूलत: बालोद का रहने वाला है। 4 साल पहले वह अपने मामा के घर तेलीनसत्ती आया था। शादी के बाद वह इतवारी सिन्हा के घर में किराए पर रहता था। आरोपी जितेन्द्र और मृतक महेन्द्र सिन्हा के घर की दूरी महज एक फर्लांग ही है।

भास्कर रिकॉल: 2016 का खपरी का दोहरा हत्याकांड

16-17 अगस्त 2016 की रात अर्जुनी थाना अंतर्गत ग्राम खपरी की रुखमणी बाई और उसकी बेटी पार्वती बांडे (20) की हत्या धारदार हथियार या किसी वजनी वस्तु से कर दी गई थी। इससे पहले युवती से दुष्कर्म करना भी बताया जा रहा है। इस घटना का पता तब चला जब पार्वती का भाई देवानंद घर पहुंचा। बताया जा रहा है कि आरोपी को युवती से दुष्कर्म करते हुए रूखमणी ने देख लिया था, इसलिए आरोपी ने उसकी भी हत्या कर दी। मां की हत्या करते युवती ने आरोपी को देख लिया तो उसकी भी हत्या कर दी। पति मानसिंग बांडे (50) उस वक्त घर से बाहर थे।

जुलाई 2017 का तिहरा हत्याकांड तेलीनसत्ती

12-13 जुलाई 2017 की रात ग्राम तेलीनसत्ती के महेन्द्र सिन्हा पिता रामसिंग (38), उसकी प|ी उषा सिन्हा (32), छोटे बेटे महेश उर्फ लक्की (11) और बड़े बेटे त्रिलोक उर्फ राजा (13 वर्ष) पर आरोपी ने वार कर दिया। महेन्द्र, उसकी प|ी और छोटे बेटे लक्की की मौके पर ही मौत हो गई। महेन्द्र का महीनों इलाज चला। वार करने के बाद उषा जब बेहोश हुई तो पुलिस के अनुसार आरोपी ने उससे दुष्कर्म किया। इसके पहले भी वह उससे शारीरिक संबंध बना चुका था। उषा जेवर गिरवी रखती थी। चोरी की नीयत से आरोपी वहां गया तो महेंद्र ने उसे देख लिया, इसलिए उसे मार दिया। कोई सबूत न रहे इसलिए उषा को और उसके एक बेटे को भी मार डाला। फिर जेवरात लेकर भाग गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhamtari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×