• Home
  • Chhattisgarh News
  • Dhamtari News
  • श्रीकृष्ण के भजनों पर 5 घंटे तक झूमे श्रोता, आज खेली जाएगी फूलों की होली
--Advertisement--

श्रीकृष्ण के भजनों पर 5 घंटे तक झूमे श्रोता, आज खेली जाएगी फूलों की होली

जालमपुर वार्ड में चल रही श्रीमद् भावगत कथा का समापन 1 मार्च को होगा। इस मौके पर तुलसी वर्षा, महाआरती के बाद फूलों की...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:40 AM IST
जालमपुर वार्ड में चल रही श्रीमद् भावगत कथा का समापन 1 मार्च को होगा। इस मौके पर तुलसी वर्षा, महाआरती के बाद फूलों की होली खेली जाएगी। बुधवार को भगवान श्रीकृष्ण की बाल लीला, गोकुल लीला, मथुरा लीला, वृंदावन लीला और रुक्मिणी मंगल की कथा भगवताचार्य पं. हरिशंकर वैष्णव ने सुनाई। इस दौरान श्रीकृष्ण के भजनों पर करीब 5 घंटे तक श्रोता झूमते रहे।

कथा में पं. हरिशंकर वैष्णव ने बताया कि पुत्र अपने माता-पिता, गुरु के ऋण से कभी उऋण नहीं हो सकते। स्वयं श्रीकृष्ण ने अपने माता-पिता से भी यही कहा है। जो पुत्र अपने माता-पिता की सेवा, आदर-सम्मान नहीं करता, उसे नरक प्राप्त होगा। श्रीकृष्ण ने गोपियों को ज्ञान संदेश देने के लिए उद्धव को उनके पास भेजा था, परंतु गोपियों के निष्काम प्रेम ने उन्हें जीत लिया। अतः निष्काम भक्ति ही सर्वश्रेष्ठ और भगवान की कृपा प्राप्त करने का एकमात्र माध्यम है। कथा प्रसंग के दौरान कृष्ण-रुक्मिणी विवाह कह झांकी भी निकाली गई।

सुदामा चरित्र, परीक्षित मोक्ष की कथा आज

1 मार्च को सुबह से देर-शाम तक कई आयोजन हाेंगे। पं. हरिशंकर वैष्णव सुदामा चरित्र, परीक्षित मोक्ष की कथा सुनाने के बाद, गीता पाठ करेंगे। तुलसी वर्षा, महाआरती दर्शन, सहस्त्रधारा के बाद श्रद्धालु फूलों की होली खेलकर एक-दूसरे को पर्व की बधाई देंगे। अंत में प्रसाद वितरण होगा।