पट्‌टे की मांग कर लोगों ने किया निगम का घेराव, महापौर और अफसरों से बहस भी हुई

Dhamtari News - स्थाई पट्‌टे की मांग करते हुए मकेश्वर वार्डवासियों ने शुक्रवार को निगम का घेराव कर दिया। दोपहर 12 बजे वार्डवासी...

Jun 15, 2019, 06:40 AM IST
Dhamtari News - chhattisgarh news demand of leasing of the corporation the mayor and the officers have been debated
स्थाई पट्‌टे की मांग करते हुए मकेश्वर वार्डवासियों ने शुक्रवार को निगम का घेराव कर दिया। दोपहर 12 बजे वार्डवासी निगम गए। महापौर और अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी करने लगे। 45 मिनट तक नारेबाजी करने के बाद महापौर और निगम के अधिकारी बाहर नहीं आए।

तब वार्डवासी निगम आयुक्त के कक्ष तक पहुंच गए। यहां नारेबाजी करते रहे। 10 मिनट बाद महापौर अर्चना चौबे, महिला बाल विकास प्रभारी सरिता यादव आईं। वार्डवासियों ने महापौर को ज्ञापन देकर पट्टा दिलाने की मांग की। इस दौरान मकेश्वर वार्ड की महिला गीता व कुछ अन्य महिलाओं का महापौर के साथ तीखी बहस भी हो गई। 2017 में वार्ड में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई को लेकर महापौर को गीता ने जमकर खरी-खोटी सुनाई। इसके बाद निगम आयुक्त भी मौके पर आए। वार्डवासियों का निगम के अधिकारियों के साथ भी बहस हुई। गुस्साए वार्डवासी निगम में बिना ज्ञापन सौंपे कलेक्टोरेट गए। कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों पर कार्रवाई करने के साथ ही उनकी मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिलाया। इसके बाद वार्डवासी शांत हुए और वापस लौटे।

मकेश्वर वार्ड के लोगों ने अफसर और जनप्रतिनिधियों को खरी-खोटी भी सुनाई

45 मिनट तक आवेदन लेने कोई नहीं पहुंचा, तब वार्डवासी आयुक्त के चेम्बर तक पहुंचकर नारेबारी करने लगे।

पीएम आवास नहीं बना, तो करेंगे उग्र आंदोलन

पार्षद प्रकाश सिन्हा ने बताया कि 1984 एवं 1993 में इंदिरा गांधी एवं राजीव गांधी योजना अंतर्गत स्थाई पट्टा दिया गया था। सभी प्रकार का टैक्स जमा करना भी शुरू कर दिया। 150 परिवारों को पट्टा नहीं मिला है। पीएम आवास नहीं बन रहे हैं। पीएम आवास योजना के आवेदन भी किया था, लेकिन आवेदनों पर कोई विचार नहीं किया गया। यदि निगम जल्द आवेदनों पर विचार नहीं करता है, तो उग्र आंदोलन करेंगे।

नगर निवेश अॉफिस के पीछे अवैध प्लाटिंग, की गई कार्रवाई

धमतरी| कंपोजिट बिल्डिंग में नगर निवेश का कार्यालय संचालित है। इसके ठीक पीछे खेत में 30 एकड़ में अवैध प्लाटिंग करने के लिए मुरुम का रोड बनाया गया था। शुक्रवार को नगर निवेश और नगर निगम की टीम ने सड़क तोड़कर कार्रवाई की।

कुछ दिनों पूर्व इसी प्लाटिंग के आसपास नगर निगम ने अवैध प्लाटिंग का बोर्ड लगाकर लोगों को जागरूक किया था। भू माफिया के अलावा जमीन खरीदने वाले लोग भी इसकी अनदेखी कर रहे थे। सड़क तोड़ने की कार्रवाई के बाद से यहां प्लाट खरीदने वालों में भी हड़कंप है। सबसे ज्यादा अवैध प्लाटिंग कलेक्टोरेट से रुद्री रोड व आसपास है। डेढ़ महीने पहले निगम व नगर निवेश ने भू माफिया को नोटिस जारी किया था। अधिकांश ने प्लाट कटिंग करना भी बंद कर दिया था। फिर से प्लाटिंग कर रहे हैं। कमिश्नर एके हालदार ने बताया कि अवैध प्लाटिंग पर 56 लोगों को नोटिस जारी किया गया है। अब इनके खिलाफ एफआईआर कराएंगे।

स्थाई पट्टा नहीं होने से नहीं बन पा रहे पीएम आवास

वार्डवासी फागेश्वरी, सीमा पटेल, इंद्राणी, सागर, सावित्री, रुक्मिणी, ईश्वरी, राज बाई आदि ने बताया कि वार्ड में 60 साल से कच्चा मकान बनाकर रह रहे हैं। निगम में सभी प्रकार के टैक्स जमा करते हैं। वार्डवासी प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लेना चाहते हैं, लेकिन स्थाई पट्टा नहीं होने के कारण पीएम आवास योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

शिकायत मिलने पर की गई है कार्रवाई

नगर निवेश के सहायक संचालक रोहित गुप्ता ने बताया कि कंपोजिट बिल्डिंग के पीछे अवैध प्लाटिंग की शिकायत मिली थी। इस मामले को लेकर 10-12 लोगों को नोटिस जारी किया गया था। नोटिस के बाद भी मुरूम से सड़क निर्माण करा दिया गया था। शुक्रवार को इस सड़क को तोड़कर मुरूम जब्त किया गया है। आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी।

X
Dhamtari News - chhattisgarh news demand of leasing of the corporation the mayor and the officers have been debated
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना