नहर से नहीं मिल पा रहा पानी फसल सूखने से किसान चिंतित

Dhamtari News - नहर में पानी की रफ्तार कम होने से खेतों तक नहीं पहुंच रहा। मगरलोड | क्षेत्र में नहर के पानी की धार कम हो गई। हैड...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:11 AM IST
Magarload News - chhattisgarh news farmer worried due to drying of the canal from the canal
नहर में पानी की रफ्तार कम होने से खेतों तक नहीं पहुंच रहा।

मगरलोड | क्षेत्र में नहर के पानी की धार कम हो गई। हैड एरिया के खेतों में जैसे तैसे पानी पहुंच रहा है लेकिन टेल एरिया में धार इतनी हो गई है, खेतों तक पानी पहुंच ही नहीं रहा है। इधर खेत सूखने लगे हैं। रबी सीजन में बोए गए धान फसल की हालत दिनोदिन खराब होती जा रही है। करेलीबड़ी, कुंडेल,धौराभाठा,भोथा,हरदी, बेलौदी समेत कई गांव की धान फसल सूखने लगी है। पैसे लगाकर इस बार किसानों ने रबी सीजन में धान बोया, इस आस में कि सिंचाई के लिए पानी मिलेगा। लेकिन स्थिति यह है कि जो लागत आई है वह भी निकलना मुश्किल दिख रहा है।

कर्ज लेकर ली थी रबी फसल : रामाराम यादव ने बताया 2 एकड़ में धान की फसल ली। मगर पानी नहीं मिलने से उनकी फसल खराब हो गई है। उन्हें 30 हजार रुपए का खर्च भी कर लिया है। उन्होंने बताया कि कर्ज लेकर रबी फसल में धान फसल लगाया था अब उम्मीद पर पानी फेर दिया है। पानी की आवक बढ़ने से कुछ सुधार हो सकता अन्यथा क्षेत्र के सैकडों किसानों की फसल चौपट हो जाएगी। किसान बिशेसर यादव,रमहु साहू,टेकराम साहू,राजाराम यादव, करेली बड़ी के कृषक भोज साहू,अशोक साहू,तीरथ साहू अपनी फसल बचाने सिंचाई पानी का इंतजार कर रहे हैं।

14 एकड़ में दो लाख के नुकशान की आशंका

कुंडेल निवासी खेमू राम यादव ने बताया कि उन्होंने 14 एकड़ में धान की फसल लगा ली। पौधे को जब तक पानी मिला बढ़ता रहा, जैसे ही पानी मिलना बंद हुआ, खेत सुख खाद,दवाई,निंदाई और चलाई और बीज समेत प्रति एकड़ 15 हजार खर्च आ चुका है। अब तक 14 एकड़ फसल पर 2 लाख रुपये खर्च कर चुके है। उन्होंने बताया कि धान की फसल अच्छा था उम्मीद था कि धान की पैदावारी अच्छी होगी।उन्हें नही पता था ऐसे समय में पौधे को पर्याप्त पानी नहीं मिलेगा।

X
Magarload News - chhattisgarh news farmer worried due to drying of the canal from the canal
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना