गोविंदा की मौत सुसाइड या हत्या, 21वें दिन भी पता नहीं

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 06:45 AM IST

Dhamtari News - रायपुर जिले के मुड़पार निवासी गोविंदा ढीमर की लाश 28 अप्रैल को डांगी माचा गंगरेल बांध किनारे मिली थी। गोविंदा 21...

Dhamtari News - chhattisgarh news govinda39s death suicide or murder is not known on 21st day
रायपुर जिले के मुड़पार निवासी गोविंदा ढीमर की लाश 28 अप्रैल को डांगी माचा गंगरेल बांध किनारे मिली थी। गोविंदा 21 अप्रैल को घर से निकला था। 6 मई को उसकी लाश की पहचान हुई। आज 21 दिन बाद भी कातिल का पता नहीं चला है। डायरी लिखने के शौकीन गोविंदा के घर से पुलिस को एक डायरी मिली है। इसमें गोविंदा ने लिखा था कि बस जिंदगी अब इतनी ही थी ,लौट कर नहीं आऊंगा।

मृतक की शिनाख्त के बाद भी पुलिस को कोई सुराग नहीं मिल पा रहा है। यहां तक कि गोविंदा एक की पैड मोबाइल लेकर निकला था, उसका भी पता नहीं चला है। स्मार्ट फोन घर पर ही था। घर पर मिला फोन साइबर सेल को सौंपने के बाद पुलिस को इससे सुराग मिलने की उम्मीद थी। लेकिन इसमें भी कुछ नहीं मिला। मृतक के गायब होने से लाश मिलने तक किसी अन्य नंबर का भी कोई लोकेशन नहीं मिला है। गांव से भी उसके साथ कोई नहीं आया था। घर में मिली डायरी ने पुलिस का ध्यान अलग भटका दिया है। क्योंकि पुलिस ने मामले को पहली ही नजर में हत्या का माना था, क्योंकि मृतक के शरीर पर चोट के निशान थे, हाथ पैर बंधे थे, पीठ पर लदे बैग में पत्थर भरे थे। लेकिन अब डायरी आत्महत्या की ओर इशारा कर रही है। टीआई गगन वाजपेयी ने बताया कि अब तक कोई सुराग नहीं मिला है। सभी पहलुओं पर जांच करा रहे है। घर से मिली डायरी को राइटिंग एक्सपर्ट के पास भेजेंगे।

पुलिस अब पुराने मैसेज की कर रही जांच

मोबाइल जांच में पुलिस को कुछ भी नहीं मिला। गोविंदा के साथ किसी और के होने का कोई टावर लोकेशन नहीं मिला है। अब पुलिस पुराने मैसेज की जांच करा रही है। इधर राइटिंग एक्सपर्ट की भी मदद ली जा रही है। गोविंदा के परिवार वाले भी समझ नहीं पा रहे कि उनके सीधे सादे बेटे का किससे दुश्मनी थी और किन लोगों ने उनकी जान ले ली।

X
Dhamtari News - chhattisgarh news govinda39s death suicide or murder is not known on 21st day
COMMENT