--Advertisement--

रूद्री रोड से ही नहीं एनएच पुरूर से भी जा सकेंगे गंगरेल तक, सड़क को किया जाएगा चौड़ा

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 02:26 AM IST

Dhamtari News - गंगरेल में पर्यटन सुविधाओं को और विकसित करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रयास किया जा रहा है। यहां फिलहाल सबसे...

Dhamtari News - chhattisgarh news not only from rudrai road nh purur will be able to go to gangrel the road will be widened
गंगरेल में पर्यटन सुविधाओं को और विकसित करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रयास किया जा रहा है। यहां फिलहाल सबसे बड़ी समस्या गंगरेल पहुंचने के रास्ते में ट्रैफिक है, क्योंकि सड़क काफी संकरी है। इसे दूर करने के लिए अंबेडकर चौक धमतरी से रूद्री रोड होते हुए गंगरेल तक सड़क चौड़ीकरण और नेशनल हाईवे पुरूर से सोरम भटगांव होते हुए एक नई सड़क बनाई जाएगी।

पुरूर से सोरम, भटगांव तक अभी भी सड़क है, लेकिन इसका चौड़ीकरण कर सड़क का नया निर्माण होगा।

पर्यटन विकास समिति की बैठक में योजना पर मुहर भी लग गई है। कार्य एजेंसी सिंचाई विभाग और पीडब्लूडी होगी, जिसने प्रस्ताव भी तैयार कर लिया है। इसे स्वीकृति के लिए शासन को भेजना बाकी है। दो अलग-अलग रास्तों से गंगरेल में एंट्री मिली, तो यातायात समस्या 50 प्रतिशत कम हो जाएगी। इधर वर्षों से गंगरेल में पार्किंग समस्या को दूर करने के लिए अंगारमोती मंदिर के पास 9 एकड़ जमीन पर पार्किंग बनाया जाएगा। पार्किंग शुल्क 10 रुपए से लेकर 200 रुपए तक होगा। खास बात यह भी है कि प्रशासन ने पर्यटन के माध्यम से ग्राम पंचायत गंगरेल और आश्रित ग्राम मरादेव के हर परिवार को रोजगार से जोड़ने का लक्ष्य रखा है। यदि ऐसा हुआ तो 712 परिवार के लोगों को रोजगार अपने गांव घर में ही मिलेगा।

गंगरेल में वुडन कॉटेज, वाटर स्पोर्ट्स शुरू होने के बाद पर्यटकों की संख्या में 40 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। छुट्टी के दिनों में यहां 4 से 6 हजार लोग पहुंच रहे हैं। पहले अधिकतम तीन से चार हजार लोग ही पहुंचे रहे थे।

आने वाले समय में ऐसे पहुंचेंगे गंगरेल

जिला प्रशासन द्वारा बनाए गए प्लान के अनुसार आने वाले समय में गंगरेल पहुंचने के लिए दो बेहतर विकल्प मिलेंगे। पहला विकल्प नेशनल हाईवे से होते हुए अंबेडकर चौक से सीधे रूद्री-गंगरेल के लिए मार्ग रहेगा। इसके अलावा बस्तर रोड में धमतरी से 6 किमी दूर पुरूर से सीधे खिड़कीटोला, सोरम, भटगांव, मानव वन से सीधे गंगरेल पहुंचेंगे। यह रोड अभी 8 फीट चौड़ी है, जिसे 12 से 14 फीट तक किया जाएगा।

स्थानीय ग्रामीण बनेंगे पर्यटन गाइड और स्वच्छता मित्र

ग्राम पंचायत गंगरेल और आश्रित ग्राम मरादेव के ग्रामीणों को आने वाले समय में रोजगार की समस्या नहीं होगी। यहां कुल 712 परिवार के 2736 सदस्य हैं। गांव के ग्रामीण ही पर्यटन मित्र (गाइड) और स्वच्छता मित्र बनेंगे। रोजगार के अवसर खुलेंगे और यहां के स्थानीय ग्रामीणों की आय बढ़ेगी।

रोजगार... महिलाएं दौड़ाएंगी ई-रिक्शा

गांव की महिलाओं को भी रोजगार से जोड़ने के लिए ई-रिक्शा श्रम विभाग द्वारा दिया जाएगा। इसके लिए यहां की महिलाओं को समूह बनाकर प्रशिक्षण दिलाने के लिए कौशल विकास केन्द्र को निर्देशित किया गया है। एक निश्चित स्थान तक महिलाएं ई-रिक्शा दौड़ाएंगी और पर्यटकों का सहयोग करेंगी। यही नहीं, गांव की ही महिलाओं को यहां कैंटीन संचालन की जिम्मेदारी दी जाएगी।

दुकानों को किया जाएगा व्यवस्थित

गंगरेल बांध और रेस्ट हाऊस के आसपास अभी भी फुटकर दुकानें संचालित है। यहां पर गाड़ियों की टर्निंग भी नहीं हो पाती। इन दुकानदारों को व्यवस्थित कर शॉपिंग कॉम्प्लेक्स बनाकर दिया जाएगा। इसके बाद प्राथमिकता के आधार पर संबंधित दुकानदार अपनी दुकानें संचालित कर सकेंगे। किसी का रोजगार नहीं छीना जाएगा। इस योजना के लिए कलेक्टर ने ग्रामीणों से सुझाव भी मांगा है। इधर माता अंगारमोती मंदिर जोन में पुलिस चौकी भी खोली जाएगा। इसकी तैयारी पुलिस विभाग ने कर ली है।

दो स्थानों पर व्यू प्वाइंट बनेंगे

सुरक्षा के लिहाज से गंगरेल बांध के ऊपर पर्यटकों की एंट्री बंद कर दी गई है। इसे लेकर पर्यटकों में नाराजगी है, लेकिन बांध का नजारा देखने के लिए रेस्ट हाऊस व उसके पास दो अलग-अलग स्थानों में व्यू प्वाइंट बनेंगे, जहां से पर्यटक बांध का नजारा देख सकेंगे।

X
Dhamtari News - chhattisgarh news not only from rudrai road nh purur will be able to go to gangrel the road will be widened
Astrology

Recommended

Click to listen..