मुरुमसिल्ली बांध के पानी से अभी का काम तो चल जाएगा लेकिन जून आखिर में हो सकती है परेशानी

Dhamtari News - गंगरेल में उपयोगी पानी कम होेेने के कारण मुरुमसिल्ली बांध से यहां पानी तो लाया जा रहा है लेकिन अभी पूरी गर्मी बाकी...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 06:45 AM IST
Dhamtari News - chhattisgarh news the work of murum basili dam will go on till now but it can happen in the end of june
गंगरेल में उपयोगी पानी कम होेेने के कारण मुरुमसिल्ली बांध से यहां पानी तो लाया जा रहा है लेकिन अभी पूरी गर्मी बाकी है। भिलाई इस्पात संयंत्र, रायपुर निगम और धमतरी को पीने के लिए पानी देना है। मानसून आते ही गंगरेल में पानी की आवक नहीं होती। जुलाई के पहले सप्ताह में यदि मध्यम से तेज बारिश हो, वह भी कैचमेंट एरिया कांकेर के जंगलों में तो ही आवक होती है। अगले दो माह तक गंगरेल से भिलाई इस्पात संयंत्र, रायपुर निगम और धमतरी को करीब 0.951 टीएमसी पानी जरूरत होगी। इतने पानी की जरूरत तो मुरुमसिल्ली से पूरी हो जाएगी। लेकिन जून के अंत और जुलाई के पहले पखवाड़े में परेशानी हो सकती है। क्योंकि गंगरेल ही नहीं, मुरुमसिल्ली का भी तेजी से वाष्पीकरण हो रहा है। दोनों बांध में उपलब्ध उपयोगी पानी से अंदाजा लगाया जा सकता कि एक सप्ताह में एक टीएमसी से ज्यादा उड़ गया।

एक सप्ताह में मुरुमसिल्ली और गंगरेल से एक टीएमसी से अधिक पानी भाप बनकर उड़ा, और उड़ेगा

गर्मी में 3 टीएमसी पानी उड़ जाता है भाप बनकर

गंगरेल सहित मुरुमसिल्ली में पानी का वाष्पीकरण तेजी से हो रहा है। गर्मी के दिनों में यहां तीन टीएमसी तक पानी भाप बनकर उड़ जाता है। 10 मई को यहां 4.011 टीएमसी उपयोगी पानी था। मुरुमसिल्ली से पानी छोड़ने के बाद भी 17 मई की स्थिति में यहां मात्र 4.625 टीएमसी पानी है। जबकि मुरुमसिल्ली से 1.581 टीएमसी पानी दिया जा चुका है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि गंगरेल से पानी कितनी तेजी से उड़ रहा है। हालांकि जितना पानी मुरुमसिल्ली से छोड़ा जाता है, उतना कभी गंगरेल नहीं पहुंचता। रास्ते में वह जाया हो जाता है, इसके अलावा इसकी चोरी भी होती है।

हर माह किसे कितना देना है पानी (मात्रा टीएमसी में)

0.2258

भिलाई इस्पात संयंत्र

0.2083

रायपुर नगर निगम

0.0416

धमतरी नगर निगम

मुरूमसिल्ली के गेट खोल पानी गंगरेल बांध में लाया जा रहा।

पूरा नहीं केवल 50 प्रतिशत दिया जाएगा मुरुमसिल्ली से पानी

मुरूमसिल्ली को भी पूरा खाली नहीं किया जाएगा। सिर्फ 50 प्रतिशत पानी ही गंगरेल में लाया जाएगा, जिसका उपयोग सिर्फ पेयजल के रूप में किया जाएगा। सिंचाई पानी पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। अब आगे बारिश के आने तक रायपुर-भिलाई सहित धमतरी को ही पीने के लिए ही पानी दिया जाएगा, अन्य प्रयोजन के लिए बिल्कुल नहीं।

सिंचाई पानी बंद होने के कारण और गिरेगा जलस्तर

मानसून को आने में अभी महीनेभर का समय है। इधर तपिश बढ़ते जा रही। सिंचाई पानी छूटने से नहरों के आसपास के इलाके में जलस्तर बना हुआ था। अब सिंचाई पानी बंद हो गई है। इसलिए जलस्तर भी गिरेगा। वर्तमान में जिले का औसत जलस्तर 19.20 मीटर है, जो और गिर सकता है।

10 मई की स्थिति में बांधों में पानी (टीएमसी में)

बांध जल भराव उपयोगी पानी

गंगरेल 9.082 4.011

मुरुमसिल्ली 4.439 4.318

दुधावा 1.170 1.010

सोंढूर 1.372 0.19

(गंगेरल और मुरुमसिल्ली में उपयोगी पानी के आंकड़ों पर नजर डालें, अंदाजा लगेगा कि कितना पानी भाप बनकर उड़ गया)

रायपुर निगम ने 10 साल बाद किया 20 करोड़ का भुगतान

नगर निगम रायपुर को गंगरेल से पेयजल दिया जाता है। जनवरी में 104.42 घनमीटर पानी दिया जा रहा था। मई 2018 में अंतिम बार रायपुर नगर निगम ने पैसा पटाया था। इस समय 20 करोड़ 35 लाख 8 हजार रूपए का भुगतान किया गया था। 2018, 2019 का भुगतान मिलाकर रायपुर निगम पर 6 करोड़ 88 लाख 46 हजार का कर्ज चढ़ गया है।

17 मई को बांधों में पानी (टीएमसी में)

बांध पानी

गंगरेल 4.625

मुरूमसिल्ली 2.737

दुधावा 0.967

सोंढूर 0.415

Dhamtari News - chhattisgarh news the work of murum basili dam will go on till now but it can happen in the end of june
X
Dhamtari News - chhattisgarh news the work of murum basili dam will go on till now but it can happen in the end of june
Dhamtari News - chhattisgarh news the work of murum basili dam will go on till now but it can happen in the end of june
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना