डीएमएफ पर रोक से उज्ज्वला योजना बंद, जिले में नहीं बंट रहे गैस कनेक्शन, नया लक्ष्य भी नहीं मिला

Bhaskar News Network

Jun 15, 2019, 06:40 AM IST

Dhamtari News - प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से जिले में अब गैस वितरण बंद हो गया है। सरकार बदलते ही लोगों को अब उज्ज्वला योजना का...

Dhamtari News - chhattisgarh news ujjwala closing stoppage on dmf no gas connections in the district new target not found
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से जिले में अब गैस वितरण बंद हो गया है। सरकार बदलते ही लोगों को अब उज्ज्वला योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

लोग योजना के तहत गैस कनेक्शन लेने की जानकारी पंचायत, गैस एजेंसी व खाद्य विभाग तक पहुंच रहे, लेकिन लोगों को गैस कनेक्शन कब मिलेगा, इसकी जानकारी अधिकारी भी नहीं दे पा रहे हैं। डीएमएफ फंड से उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन बांटने पर रोक लगने से जिले में 2018-19 में लक्ष्य पूरा नहीं हो पाया। जिले के 9907 हितग्राहियों को गैस कनेक्शन नहीं मिल पाया है। इधर नया सत्र शुरू हो गया है। नए वर्ष का लक्ष्य निर्धारण भी अधिकारी नहीं कर पाए हैं। उज्ज्वला योजना के तहत बांटे जाने वाले गैस कनेक्शन अब बंद होता नजर आ रहा है। लोग आवेदन कर रहे, पर इसका लाभ नहीं मिल रहा। जनदर्शन में भी गैस कनेक्शन के लिए लगातार आवेदन आ रहे हैं। अधिकारी वर्ग में भी इस योजना को छग सरकार द्वारा बंद करने की चर्चा हो रही है।

लोगों को इस प्रकार मिलता था लाभ

एक एलपीजी कनेक्शन लेने पर लोगों को 3400 से अधिक रुपए खर्च करने पड़ते हैं। इसमें 14 किलोग्राम वाली टंकी जिसका मूल्य 1250 रूपए, रेगुलेटर 150 रुपए का खर्च केंद्र सरकार वहन करती थी। 25 रुपए का कार्ड, 100 रुपए का पाइप और 75 रुपए वितरक के यानि कुल 200 रुपए उज्ज्वला लाभान्वित हितग्राहियों से लिए जाते थे। जबकि 990 रुपए चूल्हा और करीब 800 रुपए का पहला रिफिल राज्य सरकार वहन करती थी। अब रोक लगने के बाद लोग खाद्य विभाग के चक्कर लगा रहे है। नए कनेक्शन के लिए परेशान है।

जून में 25 रुपए की बढ़ोतरी हुई

मई माह में गैस सिलेंडर के दाम 792.50 रुपए थे। जून माह में रेट 817.50 रुपए हो गया है। इसमें हितग्राहियों को 310.61 रुपए की सब्सिडी मिल रही है। वहीं 5 किलो वाले सिलेंडर का दाम 300 है। इसमें हितग्राहियों को 111.44 रुपए की सब्सिडी दी जा रही है।

भास्कर न्यूज|धमतरी

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से जिले में अब गैस वितरण बंद हो गया है। सरकार बदलते ही लोगों को अब उज्ज्वला योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

लोग योजना के तहत गैस कनेक्शन लेने की जानकारी पंचायत, गैस एजेंसी व खाद्य विभाग तक पहुंच रहे, लेकिन लोगों को गैस कनेक्शन कब मिलेगा, इसकी जानकारी अधिकारी भी नहीं दे पा रहे हैं। डीएमएफ फंड से उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन बांटने पर रोक लगने से जिले में 2018-19 में लक्ष्य पूरा नहीं हो पाया। जिले के 9907 हितग्राहियों को गैस कनेक्शन नहीं मिल पाया है। इधर नया सत्र शुरू हो गया है। नए वर्ष का लक्ष्य निर्धारण भी अधिकारी नहीं कर पाए हैं। उज्ज्वला योजना के तहत बांटे जाने वाले गैस कनेक्शन अब बंद होता नजर आ रहा है। लोग आवेदन कर रहे, पर इसका लाभ नहीं मिल रहा। जनदर्शन में भी गैस कनेक्शन के लिए लगातार आवेदन आ रहे हैं। अधिकारी वर्ग में भी इस योजना को छग सरकार द्वारा बंद करने की चर्चा हो रही है।

5 हजार लोगों ने कराया एक्सचेंज

श्री बालाजी गैस एजेंसी के संचालक हेतल संघवी ने बताया कि हितग्राही उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन ले लिए, लेकिन वे रिफिलिंग नहीं करा रहे थे। अब नए निर्देश के तहत हितग्राहियों को 14 की जगह 5-5 किलो वाला दो सिलेंडर दिया जा रहा है।

2016 शुरू में हुई थी

पीएम उज्ज्वला योजना 2016 में शुरू हुई है। लक्ष्य निर्धारित कर बीपीएल परिवारों को गैस कनेक्शन दिए जा रहे है। पूर्व की भाजपा सरकार ने पीएम की योजना सफल बनाने के लिए डीएमएफ फंड का सहारा लिया था। नई सरकार ने इस पर रोक लगा दी है।

नया लक्ष्य नहीं मिला

सहायक खाद्य अधिकारी अरविंद दुबे ने कहा कि जिले में उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन नहीं बट रहे। नया लक्ष्य भी नहीं मिला है। एजेंसी द्वारा 14 की जगह 5 किलो वाला सिलेंडर उपलब्ध कराया जा रहा है।

14 की जगह 5 किलो का सिलेंडर बांट रहे

फिलहाल फेज-2 लांच होने के बाद केंद्र सरकार ने उज्ज्वला योजना के तहत बांटे गए 14 किलोग्राम वजन वाले कनेक्शन के बदले अब 5 किलो वाला सिलेंडर दे रहे हैं। जिले में 85459 हितग्राहियों को 14 किलोग्राम वाला कनेक्शन बांटा गया है। हितग्राही ज्यादा पैसे लगने के कारण रिफिलिंग नहीं करा रहे थे। लोगों की सुविधा के लिए अब 14 की जगह 5-5 किलोग्राम वाले दो सिलेंडर ले जा सकते हैं। इसके लिए किसी प्रकार का शुल्क नहीं लगेगा। 14 किग्रा सिलेंडर के बदले 5 किग्रा वाला सिलेंडर एजेंसियों द्वारा बदला जा रहा है।

तीन सालों में बांटे गए कनेक्शन

वर्ष टारगेट बांटे कनेक्शन शेष

2016-17 50000 50000 00

2017-18 15068 15068 00

2018-19 30298 20391 9907

2019-20 ------ ----- ----

योग 95366 85459 9907

X
Dhamtari News - chhattisgarh news ujjwala closing stoppage on dmf no gas connections in the district new target not found
COMMENT