Hindi News »Chhatisgarh »Dhamtari» राहत नहीं, कई एटीएम में लगा नो-कैश का बाेर्ड

राहत नहीं, कई एटीएम में लगा नो-कैश का बाेर्ड

3 दिनों के अवकाश के बाद 1 मई से बैंक जरुर खुल गए, लेकिन एटीएम में कैश की किल्लत अब भी दूर नहीं हो पा रही है। शादी सीजन...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 03, 2018, 02:35 AM IST

राहत नहीं, कई एटीएम में लगा नो-कैश का बाेर्ड
3 दिनों के अवकाश के बाद 1 मई से बैंक जरुर खुल गए, लेकिन एटीएम में कैश की किल्लत अब भी दूर नहीं हो पा रही है। शादी सीजन होने के कारण लोग सामान खरीदी करने समेत अन्य जरुरी काम के लिए बुधवार को दिनभर एटीएम के चक्कर लगाकर निराश लौटे।

शहर के कई एटीएम मेंं सुबह 9.30 बजे से लोगों की भीड़ देखी गई। दोपहर 12 बजे के बाद 40 फीसदी एटीएम ड्राई हो गए, जिससे लोगों को परेशानी उठानी पड़ी। भास्कर टीम ने स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, सेंट्रल बैंक, देना बैंक, एचडीएफसी बैंक समेत अन्य बैंकों के एटीएम का जायजा लिया, तब कहीं नो-कैश, तो कहीं सर्वर की समस्या दिखी। कुछ एटीएम के तो शटर ही डाउन थे। पीडी नाला के पास स्थित एसबीआई का एटीएम में दोपहर को सिर्फ 100 और 200 के नोट कुछ घंटे निकले। 500 और 2000 के नोटों की किल्लत अब भी बरकरार है।

दूसरे जिलों से स्थिति बेहतर : इस स्थिति पर लीड बैंक मैनेंजर अमित रंजन का कहना है कि शादी सीजन को देखते हुए बैंक प्रबंधकों को एटीएम में पर्याप्त कैश डलवाने कहा गया है। दूसरे जिले की अपेक्षा धमतरी में कैश की ज्यादा किल्लत नहीं है। सर्वर डाउन होने की वजह से एटीएम से कैश नहीं निकल पा रहा होगा। एक-दो दिन में समस्या दूर हो जाएगी।

समस्या बरकरार

3 दिनों के अवकाश के बाद 1 मई से बैंक खुले, नगदी के लिए भटके लोग, बैंकों में भी कैश की किल्लत

एटीएम में नो-कैश का बोर्ड लगा मिला।

सप्लाई न होने से 500 और 2000 के नोट नहीं मिल रहे

जिले मेंं विभिन्न बैंकों के 73 और शहर में 20 एटीएम हैं, लेकिन 500 व 2000 की करेंंसी की पर्याप्त सप्लाई नहीं होने के कारण एटीएम में 100 और 200 के नोट ही मिल रहे हैं, जो कुछ घंटे में ही खत्म हो जाते हैं। बताया गया है कि शहर के विभिन्न बैंकोंं के एटीएम मेंं 1 करोड़ से ज्यादा कैश डाला जाता है।

लोगों की मांग-बैंक प्रबंधकों को देना चाहिए ध्यान

मोनिका ध्रुव, रोहित साहू, बृजमोहन साहू ने बताया कि बुधवार को भी शहर के अधिकतर एटीएम में कैश नहीं था। इनके बाहर नो कैश के बोर्ड लगे हुए नजर आए। शादी सीजन होने के कारण कैश के लिए एटीएम का चक्कर लगाना पड़ रहा है। कई एटीएम मेंं सर्वर डाउन होने की समस्या भी है, इसके बावजूद बैंक प्रबंधक ध्यान नहीं देते।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhamtari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×