--Advertisement--

जिला अस्पताल में पानी को तरसे मरीज-परिजन

भीषण गर्मी में जिला अस्पताल के मरीजों को पानी के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है। सोमवार को ऑपरेटर की लापरवाही का...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 02:45 AM IST
भीषण गर्मी में जिला अस्पताल के मरीजों को पानी के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है। सोमवार को ऑपरेटर की लापरवाही का खामियाजा मरीजों और उनके परिजनों को भुगतना पड़ा। अस्पताल में पानी सप्लाई बाधित होने से लोग 4 घंटे तक परेशान रहे। शौचालयों में भी पानी नहीं था, ऐसे में लोगों को खुले में शौच जाना पड़ा। सुबह 6 से 10 बजे तक मरीज और परिजनों को पानी के लिए तरसते देखा गया। पानी के अभाव में शौचालयों की सफाई नहीं होने से लोग दुर्गंध से त्रस्त रहे।

आनंदपुर निवासी उर्वशी बाई, चिचबोड की सवाना साहू, भखारा की सीता यादव ने बताया कि सुबह 6 बजे शौच के लिए शौचालय पहुंची, तब नल से पानी नहीं आया। इसकी जानकारी प्रबंधन को दी, पर किसी ने भी इस गंभीर समस्या पर ध्यान नहीं दिया। मरीजों के साथ परिजनों को पानी के लिए तरसना पड़ा और कई लोग अस्पताल के बाहर खुले में शौच जाने मजबूर हुए। अस्पताल परिसर में कैंटीन चला रही श्यामाबाई ने बताया कि पंप ऑपरेटर की मनमानी का खामियाजा मरीजों और परिजनों को भुगतना पड़ रहा है। आए दिन अस्पताल में पानी की किल्लत से लोगों को जूझना पड़ रहा है। भीषण गर्मी में पानी के लिए इधर-उधर लोग भटक रहे हैं। कैंटिन से डिब्बा, बाल्टी में पानी मांगकर लोगों को खुले में शौच के लिए जाना पड़ा।

मरीजों को नहीं मिलता गर्म पानी : जिला अस्पताल में मरीजों की सुविधा के मामले में अस्पताल प्रबंधन लगातार लापरवाही बरत रहा है। 90 प्रतिशत मरीजों को गर्म पानी की जरुरत पड़ती है, लेकिन उन्हें गर्म पानी नसीब नहीं हो रहा। गर्म पानी की आवश्यकता सबसे अधिक प्रसूताओं को होती है। मरीज के परिजन कैंटीन से गर्म पानी खरीदने को मजबूर हैं। कई बार मरीजों ने शिकायत की, पर अस्पताल प्रबंधन ध्यान नहीं दे रहा।

धमतरी. जिला अस्पताल में पानी नहीं मिलने से लोगों ने परिसर में रखी मटकी के पानी का उपयोग किया। पंप चालू कराकर दोपहर 12 बजे फिर से भरा गया।

व्यवस्था बनाने में जुटे हैं : डॉ. राकेश थापा

जिला अस्पताल के प्रबंधक डॉ. राकेश थापा ने बताया कि पानी की किल्लत दूर करने की कोशिश की जा रही। हफ्तेभर से मौसम का मिजाज बदलने से लाइट गुल की समस्या सामने आ रही है। अस्पताल में 4 पंप हैं, जिनके जरिए टंकियों को भरकर लोगों को पर्याप्त पानी दिया जा रहा है। आपरेटर को आदेश दिया गया है कि पानी की किल्लत अस्पताल में न हो। समय-समय पर टंकियों को भरा जाए। गर्म पानी भी मरीजों को उपलब्ध करा रहे हैं। किसी प्रकार की समस्या हो, तो परिजन सूचना दें, तत्काल समाधान किया जाएगा।