• Home
  • Chhattisgarh News
  • Dhamtari News
  • 9वीं की छात्रा को ठहरा 5 माह का गर्भ, मां ने आरोपी बेटे को फटकारा तो काटी हाथ की नस
--Advertisement--

9वीं की छात्रा को ठहरा 5 माह का गर्भ, मां ने आरोपी बेटे को फटकारा तो काटी हाथ की नस

धमतरी | शहर की 14 साल की 9वीं की छात्रा को शादी का झांसा देकर बालाेदगहन निवासी सोनू उर्फ महेन्द्र ने उसके साथ अनाचार...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:20 AM IST
धमतरी | शहर की 14 साल की 9वीं की छात्रा को शादी का झांसा देकर बालाेदगहन निवासी सोनू उर्फ महेन्द्र ने उसके साथ अनाचार किया। 5 माह का गर्भ ठहरने पर जब पीड़िता की तबीयत बिगड़ी, तब मामला खुला। आरोपी की मां तक इसकी खबर पहुंची, तब उसने अपने बेटे को जमकर खरीखोटी सुनाई। इससे क्षुब्ध होकर आरोपी ने खुदकुशी की नीयत से अपने हाथ की नस काट ली।

फिलहाल उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेज दिया है। ग्राम बालोदगहन निवासी सोनू उर्फ महेन्द्र सेन (23) पिता सुरेश सेन की शहर के युवक से दोस्ती थी, इसलिए वह अक्सर उसके घर आया करता था। छात्रा का भी घर आना-जाना था। इस दौरान सोनू की छात्रा से जान पहचान हुई, तब वह मोबाइल नंबर लेकर उससे बातचीत भी करने लगा। इस बीच आरोपी ने नवंबर 2017 को छात्रा को शादी का झांसा देकर अपने दोस्त के घर बुलाया और उसके साथ दुष्कर्म किया।

इसके बाद उसने कई बार और छात्रा से अनाचार किया। 16 मई को देर-शाम आरोपी सोनू उर्फ महेन्द्र की मां को उसकी करतूत की जानकारी मिली, तब उसने अपने बेटे को जमकर फटकार लगाई। इससे वह क्षुब्ध हो गया और अपने कमरे में जाकर खुदकुशी की नीयत से हाथ की नस काट ली। परिजन उसे गुरुर अस्पताल में प्राथमिक उपचार कराकर घर ले आए, तब कोतवाली पुलिस ने वहां पहुंचकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

रिमांड पर भेजा जेल

कोतवाली टीआई राकेश मिश्रा ने बताया कि पीड़ित छात्रा की रिपोर्ट पर आरोपी सोनू उर्फ महेन्द्र के खिलाफ धारा 376, 363, 4,6 पाक्सो एक्ट के तहत जुर्म दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया है।

छात्रा बेहोश होकर गिर पड़ी तब हुआ मामले का खुलासा

15 मई की दोपहर छात्रा अपने घर में गश खाकर गिर पड़ी, तब परिजन घबरा गए और उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां डॉक्टरों ने जांच करने के बाद बताया कि छात्रा को 5 माह का गर्भ है। इसके बाद परिजन छात्रा के साथ सीधे सिटी कोतवाली पहुंचे और छात्रा ने पूरे घटनाक्रम से टीआई राकेश मिश्रा को अवगत कराया। छात्रा के परिजनों ने आरोपी के परिजनों को भी मामले की जानकारी मोबाइल से दी।