--Advertisement--

साढ़े 5 लाख रु. की ठगी के मास्टर माइंड एई को जेल

ग्राम राजानवागांव में सिंचाई पंप कनेक्शन में सब्सिडी दिलाने के नाम पर किसानों से साढ़े 5 लाख रुपए की ठगी की गई थी।...

Danik Bhaskar | Jan 18, 2018, 02:25 AM IST
ग्राम राजानवागांव में सिंचाई पंप कनेक्शन में सब्सिडी दिलाने के नाम पर किसानों से साढ़े 5 लाख रुपए की ठगी की गई थी। भोरमदेव पुलिस ने ठगी का मास्टर माइंड असिस्टेंट इंजीनियर (एई) योगेश पटेल गिरफ्तार कर लिया है। जूनियर इंजीनियर (जेई) आशीष कछुवाहा पहले ही अंदर है।

भोरमदेव थाना टीआई संजय यादव बताते हैं कि एई पटेल ने अपना मोबाइल नंबर बदल दिया था, जिसके चलते उसे ट्रेस करने में काफी समय लगा। राजानवागांव में ठगी का आरोप लगने के बाद भी बिजली कंपनी ने उसकी पोस्टिंग डोंगरगांव में कर दी थी। लेकिन जब भी आरोपी को पकड़ने जाते, खाली हाथ लौटना पड़ता। आखिरकार मुखबिर की सूचना पर राजानवागांव में ही उसकी गिरफ्तारी हुई। आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल दाखिल करवा दिया गया है। किसानों को ठगने में एई और जेई का साथ देने वाला लिपिक राकेश वर्मा अब भी फरार है। राजानवागांव में आरोप लगने के बाद उसे हटाकर बोड़ला ऑफिस में पोस्टिंग दी गई थी।

ये है पूरा मामला

प्रत्येक सिंचाई पंप कनेक्शन पर किसानों को 1 लाख रुपए की सब्सिडी मिलती थी, जिसे सरकार ने 31 अक्टूबर 2016 को खत्म कर दिया था। ऐसे कृषि पंप जिनकी औपचारिकताएं निर्धारित समय में अधूरी थी या फिर पेंडिंग थी, उन्हें निरस्त करने के आदेश दिए थे। लेकिन एई पटेल ने जेई व लिपिक के साथ मिलकर इसका फायदा उठाया और किसानों से ठगी की।