• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Dongridih
  • अवैध रेत खनन : देर रात विवाद कार जला दी, रॉड से सिर फोड़ा
--Advertisement--

अवैध रेत खनन : देर रात विवाद कार जला दी, रॉड से सिर फोड़ा

Dainik Bhaskar

Jul 22, 2018, 02:25 AM IST

Dongridih News - अवैध रेत खनन को लेकर शुक्रवार रात करीब 12 बजे दो रेत माफिया में विवाद हुआ। एक पक्ष के 10-12 लोगों ने दूसरे रेत माफिया पर...

अवैध रेत खनन : देर रात विवाद कार जला दी, रॉड से सिर फोड़ा
अवैध रेत खनन को लेकर शुक्रवार रात करीब 12 बजे दो रेत माफिया में विवाद हुआ। एक पक्ष के 10-12 लोगों ने दूसरे रेत माफिया पर लाठी और राॅड से से वार कर सिर फोड़ दिया। उसके कार को भी आग के हवाले कर दिया गया है। सूचना मिलने पर थाना प्रभारी और एसडीएम ने मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों को शांत कराया। चोटिल रेत माफिया ने तीन लाख सहित मोबाइल व घड़ी की लूट की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

तहसील क्षेत्र के ग्राम बल्दाकछार में लंबे समय से रेत अवैध खनन की शिकायत प्रशासन को मिल रही थी। इस पर तत्कालीन एसडीएम एएस पैकरा ने कार्रवाई कर रेत ठेकेदार के एक चैन माउंटेन मशीन और दो हाईवा को जब्त किया था। इस बीच वहां पर रेत खनन बंद कर दिया गया था। लेकिन उसी रेत घाट पर एक अन्य रेत माफिया रामेश्वर साहू द्वारा खनन करने की सूचना मिलने पर बीती रात शुक्रवार को पूर्व का रेत माफिया कुलदीप शर्मा घाट पहुंचा। उसने घाट का 3 साल के लिए ठेके पर लेने का दावा कर मशीन लेकर खनन करने पहुंचा। इस बात को लेकर दोनों ठेकेदारों में जमकर विवाद हुआ। जिसमें एक पक्ष ने दावा करने वाले कुलदीप को लाठी-डंडे से वार किया, जिससे सिर फट गया।

एसडीएम प्रकाश सिंह राजपूत और थाना प्रभारी एसएस मौर्य टीम के साथ रात करीब 12 बजे घटना स्थल पहुंचे और विवाद को शांत कराया।

कुलदीप शर्मा

कसडोल. विवाद के बाद रेत माफिया द्वारा जलाई गई कुलदीप की कार।

पीड़ित ने बताया कि रामेश्वर के साथ करीब 10-12 लोगों ने उसपर हमला किया और तीन लाख रुपए, मोबाइल और घड़ी भी लूट ले गए। मगर पुलिस ने सिर्फ मारपीट का केस दर्ज किया है। एफआईआर में लूट का कहीं भी जिक्र नहीं है। जबकि थाना प्रभारी मौर्य का कहना है कि हमने एफआईआर में तीन लाख लूट का जिक्र किया है। पीड़ित कुलदीप ने मोबाइल और घड़ी लूट की जानकारी नहीं दी है।

पीड़ित का आरोप एफआईआर में तीन लाख लूट का जिक्र नहीं

रेत खनन रास्ते को लेकर हुई मारपीट

थाना प्रभारी मौर्य ने बताया कि विवाद रेत खनन के लिए बनाए गए रास्ते को लेकर है। कुलदीप शर्मा के मुताबिक उन्होंने रेत खदान को तीन साल की लीज पर लिया था, लेकिन गांव के कुछ लोग इसी बीच लालच में आकर कुछ ज्यादा पैसे की डिमांड कर रामेश्वर साहू को ठेका दे दिए। इसके कारण दोनों के बीच विवाद हुआ।

X
अवैध रेत खनन : देर रात विवाद कार जला दी, रॉड से सिर फोड़ा
Astrology

Recommended

Click to listen..