--Advertisement--

रेत माफिया संघर्ष के बाद निरस्त घाट से पोकलेन जब्त

ग्राम बल्दाकछार में दो रेत माफियाओं के बीच हुए खूनी संघर्ष के बाद कलेक्टर के निर्देश पर ग्राम पंचायत द्वारा अवैध...

Dainik Bhaskar

Aug 07, 2018, 02:35 AM IST
रेत माफिया संघर्ष के बाद निरस्त घाट से पोकलेन जब्त
ग्राम बल्दाकछार में दो रेत माफियाओं के बीच हुए खूनी संघर्ष के बाद कलेक्टर के निर्देश पर ग्राम पंचायत द्वारा अवैध रूप से दिए गए लीज को निरस्त कर दिया गया था। इसके बाद भी एक रेत माफिया द्वारा रेत का अवैध उत्खनन किया जा रहा था।

सोमवार को शिकायत मिलते ही कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम ने एक पोकलेन जब्त की है। लेकिन उनके पहुंचने से पहले ही रेत माफिया न मौके से सभी हाईवा गाड़ियों को गायब कर दिया था। मशीन को पुलिस थाना लाया गया है। इस संबंध में माइनिंग इंस्पेक्टर नीरज शर्मा ने बताया कि पोकलेन थाने लाकर रखी गई है और अब रेत माफिया निश्चित रूप से आएगा, तब उनसे बयान लेकर कार्रवाई की जाएगी। कसडोल नगर एवं क्षेत्र में इन दिनों रेत के अवैध उत्खनन को लेकर हर चौक-चौराहे पर बात हो रही है। ग्राम बल्दाकछार के रेत घाट पर 15 दिनों पूर्व दो रेत माफियाओं के बीच खूनी संघर्ष हुआ था। इस घटने में 4 लोगों के खिलाफ केस दर्ज है पर चारों आरोपी आज तक पकड़ से बाहर हैं।

15 जून से 15 अक्टूबर तक किसी भी तरह के खनन पर रोक

शासन का नियम ये हैं कि 15 जून मानसून आने के बाद 15 अक्टूबर के बीच नदी नाले पर किसी तरह का खनन नहीं किया जाना है। वहीं सुप्रीम कोर्ट का स्पष्ट कहना है कि नदी-नालों पर मानवीय श्रम से गाड़ियां भरी जा सकती हैं न कि किसी प्रकार की मशीन से।

कसडोल. जब्त की गई पोकलेन।

पैसे के लालच में नए रेत माफिया से फिर खनन

घटना को विवादास्पद देखते हुए कलेक्टर जेपी पाठक ने शांति बहाल के उद्देश्य से बल्दाकछार रेत घाट को निरस्त कर दिया था। उसके बाद ग्राम पंचायत सरपंच ने पैसे के लालच में आकर नए रेत माफिया रामेश्वर साहू से फिर रेत उत्खनन कराना शुरू करा दिया। दूसरे पक्ष की शिकायत पर एसडीएम ने तत्काल कार्रवाई की, लेकिन उनके पहुंचने से पहले ही रेत माफिया को उनके आने का पता चलना अनेक संदेहों को जन्म देता है। आज रेत माफिया पोकलेन को छोड़कर भागे हैं।

X
रेत माफिया संघर्ष के बाद निरस्त घाट से पोकलेन जब्त
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..