Hindi News »Chhatisgarh »Doundilohara» आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने 4 साल के बच्चे को मारा थप्पड़, गाल सूजा

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने 4 साल के बच्चे को मारा थप्पड़, गाल सूजा

आंगनबाड़ी में पढ़ने वाले मासूम की शरारत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को रास नहीं आई और उसके गाल में जोरदार थप्पड़ जड़ दिया।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:40 AM IST

आंगनबाड़ी में पढ़ने वाले मासूम की शरारत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को रास नहीं आई और उसके गाल में जोरदार थप्पड़ जड़ दिया। तीन दिन बाद भी बच्चे के गाल में उंगलियों के निशान मिट नहीं पाए हैं। पिटाई के बाद 4 साल का बच्चा दर्द से कराह रहा है।

घटना डौंडीलोहारा ब्लाक के ग्राम पंचायत कोसमी के आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक दो की है। पीड़ित बालक कुलदीप को देखकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की ज्यादती साफ झलक रही है कि किस तरह से थोड़ी सी शरारत की इतनी बड़ी सजा बच्चे को दी गई है। बच्चे के दादा कमल नारायण साहू ने अधिकारियों से लिखित शिकायत कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पर कार्रवाई की मांग की है। लेकिन तीन दिन बाद भी कार्यकर्ता पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। कमल नारायण साहू ने बताया कि उनका पोता कुलदीप साहू कोसमी के आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक 2 में पढ़ता है। 29 जनवरी को रोज की तरह कुलदीप आंगनबाड़ी गया था। वहां पदस्थ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सुनीता जमदारे ने सिर्फ बच्चे की शरारत के चलते बेरहमी से पिटाई कर दी। जिससे बच्चा बुरी तरह से जख्मी हो गया। घटना के बाद पूरी तरह सहम गया है। बच्चे का गाल सूज गया है व मारने के निशान गाल पर बन गए है। इस घटना की लिखित शिकायत महिला बाल विकास अधिकारी डौंडीलोहारा के साथ जनपद सीईअो, जनपद अध्यक्ष डौंडीलोहारा व सरपंच कोसमी को भी की है।

गाल पर तीन दिन बाद भी खून व उंगलियों के निशान

कुलदीप साहू के गाल पर तीन दिन बाद भी खून व उंगलियों के निशान हैं।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पर कार्रवाई नहीं

कुलदीप घटना के इतना घबराया हुआ है कि अब आंगनबाड़ी पढ़ने नहीं जाने की बात कह रहा है। इस घटना के बाद परिजनों ने कुलदीप को लोहारा ले जाकर डॉक्टरों को भी दिखाया है, लेकिन लिखित शिकायत करने के बावजूद अब तक कार्यकर्ता पर कोई कार्रवाई हुई है।

विभाग के अफसर तक नहीं पहुंचे

मासूम कुलदीप साहू के घरवालों ने दोषी कार्यकर्ता पर सख्त कार्रवाई की मांग की है। साथ ही महिला बाल विकास विभाग के सुस्त रवैये पर नाराजगी जताई है। पीड़ित बालक के परिजनों का कहना है कि घटना की लिखित सूचना देने के बावजूद अब तक कोई अफसर बच्चे की सुध लेने गांव पहुंचा।

मैडम से पूछा तो बताया शरारत करने पर मारा थप्पड़, बर्खास्त करें

बच्चा 2 दिनों से केंद्र में नहीं जा रहा था तब उसकी मां दीपिका साहू उसे आंगनबाड़ी छोड़कर आई। कुछ समय बाद रोता हुआ आया और बोला कि बड़ी मैडम ने जोर से थप्पड़ मारा है। 3 दिन बाद भी कार्यकर्ता के 4 उंगलियों के निशान व खून जमने के निशान नहीं गए है। आंगनबाड़ी मैडम से इस बारे में पूछने पर शरारत के चलते मारने की बात कह रही। जहां शिकायत करना है कर लो बोलती है। कुलदीप को दर्द भी है व गाल सूज गया है। लिखित शिकायत के बाद भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। तत्काल बर्खास्तगी की कार्रवाई हो। कमल नारायण साहू, पूर्व सरपंच व कुलदीप के दादा

दे रहा था गाली

बच्चा शरारती है। उसकी मां ही उसे मारते हुए यहां छोड़ गई। शरारत कर गालियां भी दे रहा था। मैंने मारपीट नहीं की है। सुनीता जामदार, आंगनबाड़ी सहायिका,केंद्र क्र- 2 ग्राम कोसमी

भविष्य में ऐसा न हो

थोड़ी सी शरारत पर बच्चे को पीटना गलत है। भविष्य में ऐसी घटना न हो इसके लिए आंगनबाड़ी सहायिका पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। सुषमा ठाकुर, सरपंच, कोसमी

होगी कार्रवाई

बालक के साथ अगर पिटाई की गई है तो निश्चित रूप से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सीएस मिश्रा, जिला महिला व बाल विकास अधिकारी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Doundilohara

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×