--Advertisement--

सृजनात्मक विकास को बढ़ाने खुद से बनाए कृषि औजार का प्रदर्शन

आदिवासी अंचल डौंडी सहित आसपास के गांव में शनिवार को किसानों ने कृषि औजार की पूजा कर हरेली मनाया। नगर के जिमिंदारीन...

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 02:11 AM IST
सृजनात्मक विकास को बढ़ाने खुद से बनाए कृषि औजार का प्रदर्शन
आदिवासी अंचल डौंडी सहित आसपास के गांव में शनिवार को किसानों ने कृषि औजार की पूजा कर हरेली मनाया। नगर के जिमिंदारीन मंदिर में समिति के सभी पदाधिकारियों ने कुदाली, फावड़ा, कुल्हाड़ी, हासिया, सब्बल, की पूजा कर सुख शांति की कामना की।

समिति के सरंक्षक खिलेन्द्र भुआर्य, मंदिर समिति अध्यक्ष बलिराम धनकर, उपाध्यक्ष सुखदेव यादव, सचिव बिंदू ठाकुर, मंदिर के पुजारी भोलाराम, मुकुंद मानकर, जिरखु मालेकर, रूखम रावटे, चैनु यादव, रामदयाल, रोमन, सुंदराम निर्मलकर, गौतम कोमा, बाल सिंह, रघुनाथ, मंगलू, निर्भय गांवर, पुणेकर तिवारी शामिल हुए। शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय घोटिया में छात्रों ने सृजनात्मक विकास को बढ़ाने के लिए खुद से निर्मित कृषि ओजार का प्रदर्शन टिकेश्वर सिन्हा के मार्गदर्शन में किया। संस्था प्रमुख डीएल ठाकुर ने पूजा किया। पौधारोपण प्रभारी एनके यदु के मार्गदर्शन में खेल मैदान में पौधेरोपण किया गया। इस कार्यक्रम में शाला परिवार से एसएल गुप्ता, आरसी कौर, एन ठाकुर, वाय सुधाकर, एनके यदु, एचएल सहारे, आरएस नेताम, जेके यादव, पेशराम साहू, सहित छात्र-छात्राओं थे।

छत्तीसगढ़ जोगी कांग्रेस के डौंडी लोहारा विधानसभा प्रभारी राजेश चुरेन्द्र के नेतृत्व में ग्राम पंचायत रजही के कलामंच में ग्रामीणाें ने सामूहिक रूप से हल की पूजा की।

डौंडी. गांव में कृषि औजार की पूजा करते हुए किसान।

गेंड़ी प्रतियोगिता हुई, विकास व यीशु प्रथम

बालोद|गुरुकुल विद्यापीठ में विभिन्न खेल प्रतियोगिता हुई। नारियल फेंको प्रतियोगिता में हिन्दी मिडियम जूनियर ग्रुप से नागेश कुमार व पल्लवी प्रथम, द्वितीय मयंक कुमार, सिनियर वर्ग में षटानंद प्रथम, द्वितीय गुलशन कुमार व प्रतिभा रहे। इंग्लिश मीडियम प्रथम नुरी, कविता, बलराम, द्वितीय अनुजा, मुस्कान, तनुजा रहे। गेंड़ी प्रतियोगिता में हिंदी मीडियम से प्रथम विकास, द्वितीय गुलशन, इंग्लिश मीडियम जूनियर वर्ग से प्रथम विक्रम, द्वितीय नीतिन, सिनियर वर्ग से यीशु ठाकुर, द्वितीय बलराम रहे। प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले खिलाड़ियाें को पुरस्कार दिया। प्राचार्य कमलनारायण साव, शिक्षक जीएल साहू, एसके बैरागी माैजूद थे।

चिलमगोटा में बच्चों ने गेड़ी पर चढ़कर लगाई दौड़

डौंडीलोहारा|शनिवार को हरेली पर्व का रोचक नजारा ग्राम चिलमगोटा के प्राइमरी स्कूल में दिखा। जहां विलुप्त हो चुके खेलों के प्रति बच्चों में दिलचस्पी जगाए रखने के लिए हरेली उत्सव मनाया गया। इस दौरान बच्चों के बीच गेड़ी दौड़, नारियल फेंक, अंखमुंदा, बिल्लस, फुगड़ी सहित कई खेल हुए। बालकों ने गेड़ी तो बालिकाओं ने फुगड़ी में ज्यादा उत्साह दिखाया। ग्रामीणों ने सामूहिक रूप से स्कूल में हरेली मनाई। छत्तीसगढ़ी व्यंजनों से गेड़ी पूजा हुई। बच्चों को स्कूल में पुराने खेल खेलते देख ग्रामीणों को अपना बचपन याद आया।

गुड़ का चीला रोटी बनाकर भोग लगाया

तार्रीभरदा|शनिवार को हरेली त्योहार धूमधाम से मनाया गया। किसान खेती-किसानी में काम आने वाले औजार नागर, गैंती, कुदाली, फावड़ा सफाई कर घर के एक स्थान में रखकर पूजा की। औजारों पर गुड़ का चीला रोटी बनाकर भोग चढ़ाया। इस दिन कुलदेवता की पूजा करने की परंपरा है। हरेली के दिन नगर सहित आसपास के क्षेत्रों में कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया। कहीं पर रामायण तो कहीं पे स्कृतिक कार्यक्रम हुआ। युवा व बच्चों ने गेड़ी चढ़ने का मजा लिया। सोनईडोंगरी के जीवन साहू, रोशन यादव, धानापुरी के सुरेश यादव, युवराज सिन्हा ने बताया कि पहले का जमाना कुछ और था। एक महीना पहले ही गेड़ी चढ़ने के लिए त्योहार का इंतजार करते थे, अब तो हरेली की गेड़ी परंपरा बंद हो रही है।

घर के चौखट पर खोंची नीम की टहनी

डौंडीलोहारा|नगर सहित गांवों में हरेली पर कृषि औजारों की पूजा कर गोधन को आटे की लोंदी खिलाई गई। अपने आंगन, गोशाला व तुलसी चौरा के सामने मुरुम डालकर अपने नांगर, बख्खल व अन्य कृषि औजार को धोकर रखा। जिसके बाद पूजा की गई। राउत समाज ने घर-घर जाकर दशमूल व नीम के टहनियों को घर के चौखट पर खोंचा। इस दिन पकवान भी बनाया गया। चावल के आटे से बने चीला रोटी का भोग लगाया गया। गांव में ग्रामीणों द्वारा शाम को नारियल फेंक, कुश्ती व गेंड़ी दौड़ की प्रतियोगिता कराई गई।

X
सृजनात्मक विकास को बढ़ाने खुद से बनाए कृषि औजार का प्रदर्शन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..