Hindi News »Chhatisgarh »Doundilohara» जैविक खाद से कम लागत पर कमा सकते हैं ज्यादा मुनाफा

जैविक खाद से कम लागत पर कमा सकते हैं ज्यादा मुनाफा

मंगलवार को ग्राम स्वराज अभियान के तहत किसान कल्याण के लिए कृषि विभाग के कार्यालय में कार्यशाला हुई। किसानों को...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 03, 2018, 02:35 AM IST

मंगलवार को ग्राम स्वराज अभियान के तहत किसान कल्याण के लिए कृषि विभाग के कार्यालय में कार्यशाला हुई। किसानों को आमदनी बढ़ाने अधिकारियों ने टिप्स दिए।

कृषि अधिकारी दिपेन्द्र सिंह वर्मा ने बताया कि सरकार ने 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। जिसके लिए काम शुरू हो गया है। किसान जैविक खेती कर लाभ कमा सकते है। धान की खेती के लिए सन ढेचा की बुआई खेत मे कर दे और एक माह के बाद उसकी मताई करके उसे सड़ने दे। इस अवधि में वह खाद बन जाएगा। धान की रोपाई कर सकते है। वर्मी टांका में केंचुवा पालकर भी जैविक खाद बना सकते हंै। पशु चिकित्सक डाॅ. बीडी साहू ने डेयरी उद्यमिता विकास योजना में अधिकतम 12 लाख रूपए इकाई लागत के बारे में बताया। इसमें अनुसुचित जाति तथा जनजाति के लिए 66 प्रतिशत छुट तथा ओबीसी व समान्य वर्ग को 50 प्रतिशत अनुदान की पात्रता है। इसी तरह 300 रुपए के अंशदान पर मुर्गी पालन के लिए आदिवासियों को 28 दिन के 45 रंगीन चूजा पशुअाहार, सुअर पालन के लिए उन्नत प्रजाति के सफेद सुअर स्थानीय बाजार से खरीदने के लिए 9 हजार रुपए का अनुदान है। मत्स्य निरीक्षक देशमुख ने विभागीय योजना को बताया। ग्राम घोटिया, मरकाटोला, सुवरबोड, भर्रीटोला, साल्हे, कोटागंाव, आड़ेझर, दल्लीराजहरा, धोतिमटोला, हाथीगोर्रो, पुतरवाही, धोबनी के 80 किसान शामिल थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Doundilohara

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×